टाटा ने अपने कर्मचारियों के लिए घोषणा की| Tata announces for its employees in Hindi

टाटा समूह के वर्तमान अध्यक्ष रतन टाटा ने संकट के समय में एक ऐसा काम किया हैं, जिसकी जितनी सराहना की जाए कम है। कोरोना के समय में जिन परिवारों के मुख्य लोगों की मृत्यु हो गई जो अपने परिवार के लिए कमाए करते थे उन लोगों के लिए यह बहुत ही मुश्किल का दौर हैं। दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल इसी विषय पर है। तो आइए दोस्तों हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ते हैं-
रतन टाटा के बारे में जानने योग्य बातें-
रतन टाटा भारत के सबसे बड़ी व्यापारिक समूह टाटा समूह के वर्तमान अध्यक्ष है। 18 सितम्बर, 1937 को मुंबई में इनका जन्म हुआ। इनका पूरा नाम रतन नवल टाटा हैं। वर्ष 1981 में, रतन टाटा इंडस्ट्रीज और समूह की अन्य होल्डिंग कम्पनियों के अध्यक्ष बनाए गए थे। टाटा समूह के स्थापना जमशेदजी टाटा ने की थी और फिर उनके परिवार ने इसका विस्तार किया और इसे दृढ़ बनाया।
कोरोना काल के समय में टाटा स्टील ने अपने कर्मचारियों के लिए घोषणा की-
कोरोना के समय में उन परिवारों को बहुत ज्यादा झेलना पड़ रहा है। जिसमें कोरोना की वजह से कमाने वाले की मृत्यु हो गई है और अगर वे कमाने वाला किसी प्राइवेट जॉब में था तो यह और समस्या का विषय है। इसी बीच टाटा स्टील ने अपने कर्मचारियों के लिए कुछ ऐसी घोषणा की, जिससे उन्होंने सबका दिल जीत लिया।
टाटा स्टील ने अपने कर्मचारियों को क्या राहत दी-
टाटा स्टील के अनुसार अगर उनके किसी भी कर्मचारी की मृत्यु कोरोना से हो जाती है, तो उसके परिवार को सर्विस के 60 साल तक पूरी की पूरी सैलरी दी जाएगी। इसके अलावा परिवार को रहने के लिए घर दिया जाएगा और मेडिकल की सुविधाएं भी दी जाएगी और साथ ही साथ उनके बच्चों की पढ़ाई का खर्च टाटा स्टील ही करेगा।

दोस्तों, ‘ आपको हमारा यह आर्टिकल टाटा ने अपने कर्मचारियों के लिए घोषणा की| Tata announces for its employees in Hindi कैसा लगा? आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Facebook –Click Here

Twitter – Click Here  

Instagram – Click Here

Thanks
 Sanjana Singh