वन नेशन, वन एमएसपी, वन डीबीटी| One Nation, One MSP, One DBT in Hindi.

सरकार के वादे के मुताबिक रवि सीजन 2021  2022 का इसके तहत देश भर में किसानों से एमएसपी पर पशुओं की खरीद जारी हैं|

इसके साथ ही परमिशन है वन नेशन, वन एमएसपी(MSP) ,वन डीबीटी (DBT) को पहली बार मजबूत रूप मिला पंजाब और

हरियाणा के किसानों ने अपने गेहूं के बिक्री के एवरेज में सीधे अपने बैंक खातो में भुगतान प्राप्त करना शुरू कर दिया है|

 अब देशभर में डीबीटी लागू कर दिया गया हैं| 12 मई 2021 तक 353 लाख 99 हजार मीट्रिक टन से अधिक तक की खरीदी की जा चुकी हैं|

जोकि पिछले साल समान अवधि 268 लाख 91 हजार  मीट्रिक टन की गेंहू खरीद से कही ज्यादा हैं| साथ ही पिछले वर्ष की तुलना में अब तक एमएसपी  से लगभग 36 लाख 19 हजार किसान लाभान्वित हुए

जबकि पिछले साल लाभान्वित किसानों की संख्या 28 लाख 15 हजार थी| रवि सीजन की करीब देश भर में 190,30 करीब केंद्रो से की गयी हैं

खास बात यह है, कि किसानों को एमएसपी के आधार पर उनकी उपज का मूल्य डीबीटी के जरिए 24 घंटे के भीतर उनके बैंक खातों में सीधे प्राप्त हो रहा है|

अब तक केवल गेहूं की खरीद से किसानों को बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से 56,059.54 करोड़ सीधे ट्रांसफर किए जा चुके हैं|

केवल पंजाब की बात करें,तो पंजाब के किसानों को एमएसपी की खरीद पर 23 हजार 402 करोड़ रुपए का भुगतान उनके साथ उनके खातों में ट्रांसफर किए जा चुके हैं

जो कि कुल भुगतान का 91 फ़ीसदी है| बिचौलियों और आढतियों के मनमानियां से छुटकारा मिलने से देशभर के किसान काफी खुश हैं|

 (MSP) एमएसपी क्या हैं?

एमएसपी यानी कि मिनिमम सपोर्ट प्राइस या न्यूनतम समर्थन मूल्य होता हैं| एमएसपी सरकार की तरफ से किसानों की अनाज वाली कुछ फसलों के दाम की गारंटी होती है|

राशन सिस्टम के तहत जरूरतमंद लोगों को अनाज मुहैया कराने के लिए इस एमएसपी पर सरकार किसानों से उनकी फसल खरीदती है|

 बाजार में उस फसल के रेट भले ही कितने ही कम क्यों न हो, सरकार उसे तय एमएसपी पर ही खरीदती हैं|

इससे यह फायदा होता है कि किसानों को अपनी फसल की एक तय कीमत के बारे में पता चल जाता है कि उसकी फसल के दाम कितने चल रहे हैं| हालांकि मंडी में उसी फसल के दाम ऊपर या नीचे हो सकते हैं|

यह किसान की इच्छा पर निर्भर है कि वह फसल को सरकार को बेचे एमएसपी पर बेचे या फिर व्यापारी को आपसी सहमति से तय कीमत पर बेचे|

 (DBT) डीबीटी क्या है?

डीबीटी यानी कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर है, जिसे हिंदी में “प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण” के नाम से जाना जाता है|

एक सब्सिडी लेने का एक बेहतरीन तरीका है| जिसके तहत आपके खाता में किसी भी सरकारी योजना का लाभ बिना किसी के हाथ लगे, पैसे आपके अकाउंट में आ जायेगा, साथ ही आपको किसी बिचौलिया की  जरूरत नहीं होगी|

दोस्तों, ‘ आपको हमारा यह आर्टिकल वन नेशन, वन एमएसपी, वन डीबीटी| One Nation, One MSP, One DBT in Hindi. कैसा लगा? आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Facebook –Click Here

Twitter – Click Here  

Instagram – Click Here

Thanks
 Sanjana Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *