निकोलस से सांता क्लॉज बनने की कहानी| Nicholas Santa Claus Story in Hindi

निकोलस से सांता क्लॉज बनने की कहानी| Nicholas Santa Claus Story in Hindi.

निकोलस से सांता क्लॉज बनने की कहानी
Nicholas Santa Claus Story


ऐसा माना जाता है कि वह हर क्रिसमस पर बच्चों को रात के समय उनके घर के सामने या दरवाजे पर गिफ्ट या उपहार रख जाते हैं तो आइए दोस्तों क्रिसमस के इस बहुत ही अच्छे त्योहार पर निकोलस से सांता क्लॉज तक के सफ़र के बारे में जानते हैं और अपने आप को इस Story को पढ़कर Motivate करते हैं-

एक बार की बात है उत्तर दिशा की तरफ एक बूढ़ा आदमी रहता था, उसका नाम निकोलस था| निकोलस को बच्चे बहुत पसंद थे, वह बच्चों को खुश देखना बहुत पसंद करता था|

इसलिए वह बच्चों के लिए छोटे और प्यारे-प्यारे खिलौने बनाता था| वह खिलौने बनाता और उन्हें बच्चों मे बांट दिया करता था| निकोलस को खिलौने बनाना बहुत पसंद था इसलिए वह खिलोनों को बनाता और उन खिलौनों को बच्चों को देने के लिए बच्चों के मैदान(पार्क) मे जाता| 

यह भी पढ़े –

बच्चें उन्हें देखकर उनके पास भागते-भागते जाते और उनसे खिलौने की जिद करते थे| जब निकोलस उन्हें खिलौने दे देता तो वह भी निकोलस को इसके लिए धन्यवाद करते| निकोलस उन बच्चों को अपने खिलौने से खेलते हुए देखकर बहुत खुश होता था| 

निकोलस उन्हें हसते और खिलखिलाते हुए देखकर बहुत प्रसन्न होता था| फिर अगले दिन से वह फिर सुन्दर और अच्छे-अच्छे खिलौने बनाने लगा| उस समय क्रिसमस का त्यौहार भी आ गया और वह फिर से अपने खिलौने लेकर बच्चों को बांटने के लिए ले गया| तभी उन्होंने देखा कि घर के बाहर तो चारों ओर बर्फ गिर रही है|

उसने सोचा कि सभी बच्चे तो अपने-अपने घर मे होंगे तो वह उन्हें गिफ्ट देने के लिए उनके घर की तरफ जाने लगा| निकोलस उस क्रिसमस की रात में उन बच्चों के घर के दरवाजे के आगे मौजे में गिफ्ट और चॉकलेट रख गए| 

लेकिन कुछ दिनों बाद बर्फ बहुत ज़्यादा पड़ने लगी और वह बहुत बुढ़ा भी हो गया था तो उसने सोचा कि वह अपने बारहसिंहें  की मदद से अपनी गाड़ी से उन बच्चों को गिफ्ट पहुँचाता हूँ| निकोलस अपने घर जाकर अपने बारहसिंहें और बर्फ गाड़ी की मदद से बच्चों को गिफ्ट पहुँचाने लगा| 

लेकिन वहाँ बार बहुत बर्फ बारी हो रही थी, जिसके कारण निकोलस के लिए गाड़ी चलाना में बहुत मुश्किल हो रही था| वह बार-बार यह सोचने लगा कि इस बर्फ बारी की वज़ह से वह बच्चों को गिफ्ट नहीं दे पा रहा था| वह सिर्फ यही सोचता रहता कि वह किस ग्रह बच्चों को गिफ्ट दे पाए|

तभी उसके सामने एक परी प्रकट हुई और वह निकोलस से कहने लगी कि निकोलस तुम घबराओ मत, मैं तुम्हारी मदद करने के लिए आयी हूँ| आज से यह दो बोने आदमी तुम्हारे साथ रहेंगे और यह  गिफ्ट बनाने में तुम्हारी मदद करेंगे|

और तुम्हारे बारहसिंहें अब एक नयी शक्ति के साथ हवा में उड़ पाएंगे| तुम जहां जाना चाहोगे यह तुम्हें ले जाएंगे और तुम्हारा बच्चों के लिए प्रेम हमेशा जिंदा रहेगा और अब से तुम सांता क्लॉज के नाम से जाने जाओगे| 

यह भी पढ़े –

तब से लेकर अब तक निकोलस को सांता क्लॉज के नाम से विश्व भर में जाना जाने लगा| आज भी क्रिसमस की रात बच्चे इन्तजार करते रहते कि सांता क्लॉज आयेंगे और हमें हमारा मनचाहा गिफ्ट देंगे|

क्रिसमस एक ऐसा त्यौहार जिसका इंतजार लगभग विश्व भर के सभी बच्चे करते हैं| इस दिन का इंतजार बच्चे सांता क्लॉज (Santa claus) के लिए करते हैं| यह नाम अधिकतर लोगों ने तो सुना ही होगा सांता क्लॉज एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें बच्चे बहुत प्यारे थे| क्या आपको पता है कि सांता क्लॉज का असली नाम निकोलस था| जो कि एक शांत, परिश्रमी और बच्चों को बहुत प्यार करने वाले थे| 

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल निकोलस से सांता क्लॉज बनने की कहानी| Nicholas Santa Claus Story in Hindi. कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana

यह भी पढ़े –

No posts found.

 

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram