अंतर्राष्ट्रीय खुशहाल दिवस| International Happiness Day in Hindi.

अंतर्राष्ट्रीय खुशहाल दिवस| International Happiness Day in Hindi.

अंतर्राष्ट्रीय खुशहाल दिवस| International Happiness Day in Hindi.


आज के इस समय में सबसे मुश्किल काम खुश रहना हैं|  आज के इस समय में व्यक्ति किसी ना किसी बात पर उदास जरूर रहता है| खुश रहने का असर आपके स्वास्थ्य पर तो पड़ता है लेकिन इसके अलावा अगर हम खुश रहें तो हम मुश्किल समय में भी उचित निर्णय ले सकते है| जिससे सफ़लता आपके कदम छूने लगेगी| दोस्तों आज का हमारा Article इस टॉपिक अन्तरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस पर हैं तो आइये दोस्तों इसके बारे में पढ़ते हैं और रहने का पूरा प्रयास करते हैं-

अन्तरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस मनाने का उद्देश्य-

अंतरराष्ट्रीय ख़ुशहाल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य य़ह हैं कि आप अपने नजरिये को इस तरह बदले के आपकी ज़िंदगी में खुशी का महत्त्व बढ़ जाये| अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस की शुरुआत जेमी इलियन   ने की थी| उनका कहना था कि किसी भी देश या समाज की आर्थिक व्यवस्था से ज़्यादा जरूरी य़ह होता है कि उस दे सह या समाज के लोग खुश रहें| इसका मुख्य उद्देश्य य़ह हैं कि आप खुशी के महत्त्व को समझे|

जेमी इलियन कौन हैं?

अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस को अहं भूमिका अदा करने वाले जेमी इलियन बचपन से ही अनाथ थे| इन्हें समाज सेवक मदर टेरेसा की संस्था ने कोलकाता के सड़कों से उठाया था| बाद में इन्हें एना बेल इलियन नाम की अमेरिका में अकेली रहने वाली महिला ने इन्हें गोद लिया था| जेमी इलियन संयुक्त राष्ट्र के सलाहकार भी रह चुके हैं|

अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस का महत्त्व-

वैसे तो खुश रहने का कोई दिन नहीं होता है| लेकिन इंसान ज़िंदगी और सभ्य समाज में खुशहाल रहना कितना जरूरी है| य़ह खुशी के महत्त्व को समझे| यह दिन इसी के महत्त्व को बताने के लिए मनाया जाता है| साल 2013 से संयुक्त राष्ट्र इस अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस को मनाता आ रहा हैं| जिससे लोग इस दिवस के महत्त्व को समझे और अपने जीवन में खुशी को महत्व दे|

अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस का इतिहास-

12 जुलाई, 2012 की संयुक्त राष्ट्र की आम सभा ने अपने प्रस्ताव 66/281 के तहत हर साल 21 मार्च को अंतरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस मनाने का एलान किया था| य़ह सब जेमी इलियन की कई कोशिशों के बाद हुआ था| इन्होंने ही इस दिवस की अवधारणा और रूप-रेखा बनाई थी| इन्होंने जब अन्तरराष्ट्रीय खुशहाल दिवस का सुझाव दिया तो तब उन्हें संयुक्त राष्ट्र के तत्कालीन मुखिया बान की मून का भरपूर साथ मिला था| इनके इस प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र के सारे 193 देशों ने इसे स्वीकार किया था|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल विश्व रेडियो दिवस| World Radio Day in Hindi. कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –