भारत में दशहरा के दौरान पांच सबसे ज्यादा घूमने जाने वाले स्थान| The five most visited places in India during Dussehra in Hindi.

दशहरा हिंदुओं का प्रमुख और लोकप्रिय त्योहारों में से एक त्योहार है|  इसका आयोजन अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को होता है| इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था तथा देवी दुर्गा ने नौ रात्रि एवं दस दिन के युद्ध के उपरान्त महिषासुर पर विजय प्राप्त की थी| यह भारत के अनेक राज्यों में अलग-अलग तरीकों वा अनेक प्रथाओं से मनाया जाता है| दोस्तों हम अपने आज के आर्टिकल में दशहरा के दौरान घूमने जाने वाले पाँच सबसे प्रसिद्ध और प्रिय राज्यों के बारे में बताएंगे| तो आइए दोस्तों हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ते हैं-

1. नवरात्रि के दौरान गुजरात का प्रसिद्ध गरबा और डांडिया-

गुजरात में नवरात्रि सबसे प्रतीक्षित और मनाया जाने वाला त्योहार हैं| यहाँ गरबा और डांडिया के साथ नौ दिनों का उत्सव बड़े ही भव्य तरीके से मनाया जाता है|  गरबा के लिए पारंपरिक पोशाक को चनिया चोली कहा जाता है|
गुजरात में आप हर गली में गरबा गाने बजाते हुए देख सकते हैं| नवरात्रि के दौरान गुजरात में वातावरण मुस्कुराहट और गरबा से भरा होता है| इसलिए यह नवरात्रि के दौरान भारत में घूमने वाले प्रसिद्ध देशों में से एक है|

2. कोलकाता का प्रसिद्ध दुर्गा पूजा-

भारत में दशहरा के दौरान घूमने जाने वाले देशों में से एक प्रसिद्ध देश कोलकाता हैं| दुर्गा पूजा कोलकाता का सबसे प्रसिद्ध और प्रिय त्योहार है| इस पर्व के दौरान कोलकाता का यह शहर रंगों से जगमगाया होता है|
इसी के साथ-साथ यहाँ रवीन्द्र संगीत का प्रदर्शन भी होता है| यहाँ पर आपको हर सड़क पर पण्डाल देखने को मिल सकती है| दुर्गा पूजा के दिन महिलाएं पारंपरिक चूड़ियों के साथ शाका पोलास और लाल साड़ी पहनती है| यहाँ दुर्गा पूजा के अंतिम दिन को सिंदूर खेल कहा जाता है|
इस खेल में महिलाएँ सिंदूर से एक-दूसरे के संग खेलती है| विधवाओं और अविवाहित महिलाओं को यह करने से मना किया गया है|

3. दशहरा के दौरान वाराणसी का प्रसिद्ध रामलीला आयोजन-

यहाँ किए गए उत्सव में दिल्ली और पश्चिम बंगाल की संस्कृति का समामेलन है| वाराणसी से 15 किलोमीटर दूर रामनगर शहर, देश की सबसे उत्कृष्ट रामलीला का आयोजन करता है| रामलीला की परंपरा काशी के राजा ने शुरू की थी|

4. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़े ही रोचक तरीके से मनाये जाने वाला दशहरा का त्योहार-

यहाँ लोग देवी-देवताओं की मूर्तियाँ को सिर पर रखकर लेकर जाते हैं और मुख्य मैदान की ओर एक जुलूस निकलता है| जहाँ वे वास्तविक देवता भगवान रघुनाथ से मिलते हैं|  यह सब यहाँ सात दिनों के लिए मनाया जाता है|
अंतिम दिन, बारात ब्यास नदी की ओर बढ़ती है और लकड़ी के ढेर में आग लगा दी जाती है| जलती हुई लकड़ी का ढेर रावण की लंका के अंत का प्रतीक है|असली हिमाचली संस्कृति दशहरा के दौरान यहाँ देखी जा सकती है|
अगर आप नवरात्रि या दशहरा के दौरान कहीं यात्रा की सोचे, तो हिमाचल प्रदेश के इस कुल्लू शहर को घूमना बिल्कुल ना भूले| यह दशहरा के दौरान भारत में घूमने जाने वाले राज्यों में से एक प्रसिद्ध राज्य हैं|

5. कर्नाटक का प्रसिद्ध मैसूर दशहरा-

मैसूर दशहरा भारत में कर्नाटक राज्य का नदहाबा है| यह एक दस दिनों का उत्सव है, जिसकी शुरुआत नवरात्रि नामक नौ रातों से होती है और अंतिम दिन विजयदशमी होता है| यहाँ यह परंपरा 400 साल पीछे से चली आ रही हैं| यहाँ मैसूर पैलेस 10 दिनों तक हजारों भव्य लाइटों से जगमगाता रहता है|
यह पैलेस आकर्षण का केंद्र है, जबकि दूसरे पैलेस में नृत्य और संगीत के कई रूप हैं| यहाँ हाथी जुलूस पैलेस से शुरू होता है और मैदान की ओर प्रस्थान करता है| मैसूर में दशहरा एक ‘मेला’ का एहसास देता है| इसलिए अगर आप दशहरा के दौरान कहीं घूमने की और देखे तो कर्नाटक के प्रसिद्ध शहर की ओर जरूर रुख करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *