श्री साँई बाबा सार| Shri Sai Baba Saar in Hindi.



Sai Baba Top 18 Quotes/Thought.


श्री साँई बाबा सार | Shri Sai Baba Saar in Hindi Quotes/thought

साँई बाबा शिरडी में हमेशा बसे हुए| लोग साँई बाबा की पूजा बड़ी ही श्रद्धा से करते हैं| गुरूवार के दिन साँई बाबा के मंदिरों में लोग श्रद्धा के साथ जाते हैं आरती व भजन का आनंद लेते हैं|

जरूरतमंद लोगों के लिए भण्डारा कराया जाता हैं और यहाँ आने वाले हर व्यक्ति या महिला अगर सच्चे दिल से कुछ भी माँगते हैं,तो साँई बाबा उसको जरूर पूरा करते हैं|


 | | साँई सार | |

  1. क्रोध मूर्खता से प्रारम्भ होता हैं और पश्चाताप पर ख़त्म होता हैं
  2. प्रेम मनुष्य को अपनी ओर खींचने वाला चुंबक हैं|
  3. मनुष्य के तीन सद्गुण हैं- आशा,विश्वास और दान
  4. नम्रता से देवता भी मनुष्य के वश में हो जाते हैं|
  5. अँधा वह नहीं हैं जिसकी आँखे नहीं हैं,अँधा वह हैं जो अपने दोषों को ढकता हैं
  6. भूत से प्रेरणा लेकर अपने वर्तमान में भविष्य का चिंतन करना चाहिए 
  7. मनुष्य के रूप में परमात्मा सदा हमारे सम्मुख हैं,उनकी सेवा करो
  8. मनुष्य की महानता उसके कपड़े से नहीं,बल्कि उसके आचरण से जानी जाती हैं|
  9. दूसरों के लिए ऐसा व्यवहार रखना चाहिए जैसा की हम अपने लिए पसंद करते हैं
  10. धीरज के सामने भयंकर संकट भी धुएँ के बादलों की तरह उड़ जाते हैं|
  11. जिस तरह कीड़ा कपड़ों को कुतर डालता हैं,उसी तरह ईर्ष्या मनुष्य को|
  12. तलवार की चोट उतनी तेज नहीं होती हैं,जितनी जिह्वा की
  13. एक बार धनुष से निकला हुआ तीर वापस आ सकता हैं,ठीक उसी प्रकार मुँह से
    निकले शब्द वापस नहीं आ सकते हैं,इसलिए सोच समझकर बोला करिये|
  14. दूसरों को गिराने की कोशिश में,तुम स्वंय गिर जाओगे|
  15. दूसरों के हित के लिए अपने सुख का भी त्याग करना सच्ची सेवा हैं|
  16. चिंता से रूप,बल और यश का नाश होता हैं|
  17. घर में मेल होना पृथ्वी पर स्वर्ग के समान हैं|
  18. सपन्नता मित्रता बढ़ाती हैं और विपदा उनकी परख करती हैं|

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *