श्री साँई बाबा के अनमोल विचार| Shri Sai Baba Anmol Vichar in Hindi.


साँई बाबा के अनमोल वचन या विचार:-
जीवन की सच्ची व प्रेरणा दायक राह दिखाते हैं शिरडी के साँई बाबा-


 

श्री साँई बाबा के अनमोल विचार/अनमोल वचन| Shri Sai Baba Anmol Vichar in Hindi.हमारे देश में साँई बाबा ही ऐसे भगवान हैं,जिन्हें हर धर्म के लोग पूजते हैं| ऐसा माना जाता हैं हमारे देश की धरती पर समय समय पर कई महान संतो ने जन्म लिया था और जीवन में सच्चे धर्म पर चलने का रास्ता बताया था| उन्ही महान संतो में से शिरडी के साँई बाबा ने भी हमारे देश पर जन्म लिया था और लोगों को सही रास्ते पर चलने के लिए प्रेरित किया था और शिरडी के साँई बाबा का मानना था कि “सबका मालिक एक हैं”|

1.अनमोल वचन

मैं अपने भक्तो का दास हूँ|

2.अनमोल वचन

माता-पिता की सेवा करना परमात्मा की सेवा करने के बराबर हैं|

3.अनमोल वचन

भूखे को भोजन,जल और नंगे को वस्त्र देने से ईश्वर भी बहुत प्रसन्न होते हैं|

4.अनमोल वचन

जहाँ मैं हूँ वहाँ कोई डर नहीं हैं|

5.अनमोल वचन

मैं तुम्हें अंत भवसागर तक ले जाऊंगा|

6.अनमोल वचन

मेरी भक्ति में जो भी लीन रहते हैं,वे सचमुच धन्य हैं|

7.अनमोल वचन

सबका मालिक एक हैं|

8.अनमोल वचन

मैं निराकार भी हूँ और मैं हर जगह हूँ|

9.अनमोल वचन

अपने गुरु में पूर्ण विश्वास करो,यही साधना हैं|  

10.अनमोल वचन

मैं न हिलता हूँ और न ही डगमगाता हूँ|

11.अनमोल वचन

ईश्वर की सेवा ही सच्ची सेवा हैं|

12.अनमोल वचन

मेरा काम तो आशीर्वाद देना हैं|

13.अनमोल वचन

सम्पूर्ण रूप से ईश्वर में समर्पित हो जाइए|

14.अनमोल वचन

हमारा कर्तव्य क्या हैं? ठीक से व्यव्हार  करना…..ये काफी हैं

15.अनमोल वचन

अगर मेरे भक्त गिरने वाले होते हैं,तो मैं उनको सहारा देता हूँ|

16.अनमोल वचन

तुम मेरे लिए एक पग चलोगे,तो मैं तुम्हारे लिए सौ पग चलूँगा|

17.अनमोल वचन

हमेशा देना सीखना चाहिए,सेवा करना सबसे बड़ा धर्म हैं|

18.अनमोल वचन

मेरे लिए सभी एक समान हैं|

19.अनमोल वचन

जो कुछ भी आप देखते हैं,उन सभी में मैं ही व्याप्त हूँ|

20.अनमोल वचन

जो मुझे चाहते हैं,उनपर मेरी कृपा बनी रहती हैं|

21.अनमोल वचन

श्रद्धा रखना और सब्र से काम करते रहना ईश्वर जरूर भला करेगा|

22.अनमोल वचन

प्रेम की तरफ मनुष्य खींचा चला आता हैं|

23.अनमोल वचन

जो मेरी शरण में चला आता हैं,फिर उनके लिए भय का कोई स्थान नहीं हैं|  

24.अनमोल वचन

मैं अपने भक्तों का कभी भी अहित नहीं होने देता हूँ|

25.अनमोल वचन

अगर आपके अंदर विश्वास और धैर्य हैं,तो आप कही भी रहेंगे, मैं हमेशा आपके साथ रहूंगा|

26.अनमोल वचन

जो सच्चे मन से मेरी शरण में आता हैं,उनका भार मैं स्वंय उठाता हूँ|

27.अनमोल वचन

मनुष्य ईश्वर की बनाई हुई रचना हैं,इसलिए मनुष्य की सेवा ही ईश्वर की सेवा हैं|

28.अनमोल वचन

जो मेरे बताये हुए रास्ते पर चलेगा,वह ईश्वर की शरण में चला जायेगा|

29.अनमोल वचन

मैं हर एक वस्तु में और उस वस्तु से परे भी हूँ, मैं सभी रिक्त स्थान  को भरता हूँ|

30.अनमोल वचन

मैं अपने भक्तों से कभी नाराज़ नहीं होता,क्या आपने कभी देखा हैं कि माँ कभी अपने बच्चों से नाराज़ होती हैं|

31.अनमोल वचन

अगर आप धनवान हैं,तो दयालु बने क्योंकि फलों से वृक्ष झुके रहते हैं|

32.अनमोल वचन

हमारा यही कर्तव्य हैं,लोगो के प्रति अच्छा व्यवहार करना,जोकि पर्याप्त हैं|

33.अनमोल वचन

भले ही मैं रहूँ या नहीं रहूँ,लेकिन जब भी मेरा भक्त पुकारेगा, मैं दौड़ा चला आऊँगा|

34.अनमोल वचन

जो लोग दूसरे से प्रेम करते हैं और अच्छा व्यवहार रखते, वे लोग सचमुच महान होते हैं|

35.अनमोल वचन

परमात्मा की आज्ञा के बिना मैं कुछ नहीं करता|

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *