रामू की इंजेक्शन वाली गाय | Ramu Cow Motivational Story in Hindi.

रामू की इंजेक्शन वाली गाय Ramu Cow Motivational Story in Hindi



रामू की इंजेक्शन वाली गाय Ramu Cow Motivational Story in Hindi
रामू की इंजेक्शन वाली गाय

बहुत समय पहले की बात हैं,एक गाँव में एक दूधवाला रहता था|उसका नाम रामू(Ramu) था| रामू अपनी पत्नी और बेटे के साथ रहता था| रामू के पास एक ही गाय थी, वह गाय(Cow) बहुत ही प्यारी थी मगर वह बहुत कम दूध देती थी| वह गाय जितना भी दूध देती थी रामू  उसे दूसरे गाँव में बेच आता था| परन्तु गाय के दूध कम देने के कारण उसकी आमदनी भी कम थी| जिसके कारण रामू को अपनी पत्नी से खरी-खोटी सुनना पड़ता था|

उसकी पत्नी उससे कहती हैं कि “इतने से पैसे का मैं क्या करूँ’’?

इतने से पैसे में तो घर चलाना भी मुश्किल हो रहा है|आपने अपने पड़ोस की औरत को देखा उसने कल नई साड़ी खरीदी और उसका पति तो अपनी पत्नी को हर हफ्ते मेला घुमाने ले जाता हैं और नए कपड़े भी दिलाता हैं,आप तो ऐसा कुछ भी नहीं करते है|



यह सुनकर रामू अपनी पत्नी से कहता है, देखो भाग्यवान मैं जो कुछ भी कमाता हूँ, वो सब  मैं तुम्हें ही लाकर देता हूँ| अब मैं और पैसे कहा से लाऊँ|

फिर उसकी पत्नी कहती है कि जितने पैसे तुम कमाकर लाते हो, उतने पैसों मे से आधे पैसों का तो चारा ही आ जाता है| जो तुम्हारी गाय ही खा जाती हैं और बदले मे इतना कम दूध देती हैं| इस गाय से हमें कोई फायदा नहीं है ,इसे तो तुम जंगल  में छोड़ आओ और एक नई गाय खरीद लो|इसे सुन रामू अपनी से कहता है,देखो भाग्यवान मेरे पास नई गाय खरीदने के पैसे नहीं है| हम जितना भी कमाते हैं, उसमे दो वक्त की रोटी तो निकल ही जाती हैं| मुझे ज्यादा कुछ नहीं चाहिए|

इसके बाद उसकी  पत्नी उससे कहती हैं कि अगर आपको  ज्यादा नहीं चाहिए तो नहीं सही,




परन्तु  मुझे तो नए कपडें और नई साड़ियाँ खरीदनी है|

यह सुनकर वह अपनी पत्नी से कहता है कि देखो भाग्यवान, अब तुम मुझे ज्यादा परेशान ना करो| रात ज्यादा  हो चुकी हैं और मैं बहुत थक भी गया हूँ| अब तुम मुझे सोने के लिए जाने दो| यह सब बोलकर रामू वहाँ से चला जाता है|

रामू के जाने के बाद रामू की पत्नी सोचने लगती है कि कोई तो तरीका होगा जिससे हम ज्यादा मुनाफ़ा कमा सके| वैसे भी हमारे पास नई गाय खरीदने के लिए पैसे तो है नहीं,मुझे इसी गाय से ज्यादा मुनाफ़ा करने की  तरकीब सोचनी होगी|

सुबह  होते ही रामू हमेशा की तरह सुबह-सुबह गाय का दूध निकालता है और उस निकाले हुए दूध को बेचने के लिए शहर की और निकल जाता है|

रामू के जाते ही उसकी पत्नी उस गाय से ज्यादा मुनाफा कमाने का तरीका सोचने लगी, तभी उसे ध्यान आता है कि उसके पड़ोसी के पास भी एक ही गाय है| परन्तु वह तो बहुत खुश रहते है, इस बात का पता लगाने के लिए वह अपने




पडोसी श्याम के पास गयी और उससे पूछने लगी|

अरे भाई! श्याम जरा बात तो सुनो| मेरे पास एक ही गाय है जो बहुत कम दूध देती है, जिससे हमे कोई मुनाफ़ा भी नहीं हो रहा है| तुम्हारे पास भी तो एक ही गाय है, परन्तु वह तो बहुत ज्यादा दूध देती है, “वह कैसे?”यह सुनकर श्याम उससे कहता है कि बहन एक राज की बात बताऊँ, मैं शहर से एक Injection लाया था, जिसे गाय को लगाने से गाय दो गुना दूध देने लगती है|

रामू की पत्नी आश्चर्यचकित होकर कहती है कि श्याम भाई ऐसा भी कोई Injection होता है? श्याम कहता है – हाँ| यह सुनकर रामू की पत्नी कहती है कि तुम मुझे भी एक Injection रोज दे देना| जिससे में भी ज्यादा मुनाफा कमा सकूँ| यह सुनकर श्याम कहता है कि तुम यह Injection ले लो परन्तु रामू को मत बताना| यह  सुनकर रामू की पत्नी कहती है, ठीक में रामू को यह बात नहीं बताऊँगी|

इसके बाद रामू की पत्नी श्याम से Injection लेकर चली जाती है और अपनी गाय को  Injection लगा देती है| अगली सुबह रामू हमेशा की तरह गाय का दूध निकालता है और चौक जाता है कि आज तो गाय ने पूरी बाल्टी भर दी थी, परन्तु फिर गाय का दूध निकल रहा था| वह ख़ुशी से शहर की तरफ दूध बेचने गया और उसे जो भी मुनाफा हुआ, उस मुनाफे से उसने अपनी पत्नी के लिए कुछ सामान ख़रीदा और घर लौट आया|



यह देखकर  उसकी पत्नी बहुत खुश हुई और वह उस गाय को रोज Injection लगाने लगी, इस तरह गाय रोज ज्यादा दूध देती और उस  दूध को बेचकर जो भी मुनाफा होता, वो मुनाफा वह अपनी पत्नी को लाकर दे देता| ऐसा ही चलता रहा फिर एक दिन उसकी पत्नी गाय को Injection लगाने आयी परन्तु वह गाय समझ गयी थी यह लालची औरत उसे Injection लगाने आ रही है|

फिर जैसे ही रामू की पत्नी उस गाय को Injection लगाती वह गाय छटपटाने लगती और उसे Injection नहीं लगाने देती| कुछ देर तक ऐसा ही चलता रहा, फिर उसने अपने बेटे को बुलाया और उस गाय को पकड़ने को कहा|

उसने अपने बेटे से कहा की हमारी गाय की तबियत ख़राब हो गयी है, इसलिए मुझे Injection लगाने के लिए तुम्हारी जरुरत चाहिए| उसके बेटे ने कहा ठीक माँ आप गाय को Injection जल्दी लगाये, यह कहकर उसने गाय को पकड़ लिया| परन्तु उस गाय को पकड़ना भी बेकार हो गया क्योंकि जब भी रामू की पत्नी उसे पकड़ कर Injection लगाने की कोशिश करती, वह गाय पहले की तरह छटपटाने लगती|

कुछ देर तक ऐसा होता रहा और गाय को Injection लगाने की कोशिश में उसने गलती से Injection अपने बेटे को लगा दिया| Injection लगते  उसका बेटा रोने लगता है और वह सोचने लगती है, यह क्या कर दिया मैंने? शाम होते-होते उसके बेटे की तबियत खराब हो जाती है,और उसका बेटा बीमार हो जाता है|

रात को जब रामू आता है तो अपने बेटे को बीमार देखकर वह अपने बेटे से पूछता है की तुम बीमार कैसे हो गये? सुबह तो बहुत अच्छे से खेल रहे थे| यह सुनकर वह अपने पिता से कहता है की पिताजी अपनी गाय तबियत ख़राब हो रखी थी तो माँ उसे Injection लगा रही थी और मैंने उस गाय को पकड़ रखा था| पिताजी गाय के छटपटाने के कारण वह Injection गलती से माँ से मुझे लग गया|



यह सुनकर रामू अपनी पत्नी से कहता है कि सुबह तो हमारी गाय बिल्कुल ठीक थी तो उसकी तबियत कब बिगड़ गयी? यह सुनकर उसकी पत्नी हिचकिचाते हुए कहती है कि हमारी गाय की तबियत आपके जाने के  बाद बिगड़ गयी थी तो मैंने अपने पडोसी के श्याम से Injection लेकर गाय को लगाना चाहा तभी गलती से वह Injection हमारे बेटे को लग गया| श्याम का नाम सुनते ही रामू समझ गया की वह Injection किसलिए था|

इसके बाद वह अपनी पत्नी से कहता कि मै समझ गया भाग्यवान कि तुम यह Injection किसलिए लाई थी| उसकी यह गलती पकड़ी जाती है और वह बहुत शार्मिंदा होती है| वह रामू से माफ़ी माँगती है और कहती है कि मुझे माफ़ कर दो, मैंने यह सब केवल ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए किया था| रामू अपनी पत्नी को समझाते हुए कहता है तुमने यह बहुत गलत किया है क्योंकि तुम्हे इस बात का पता जब चला जब वह Injection हमारे बेटे को लगा| जरा तुम सोचो जब तुम वह Injection अपनी गाय को लगाती हो तो उसे कितना दर्द होता होगा|

वह कहता है की गाय तो बेजुबान होती है इसलिए वह तो अपना दर्द बता नहीं सकती और हम लालची व्यक्ति थोड़ा ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए उन बेजुबान जानवरों का फ़ायदा उठाते है| अपने पति की बात सुनकर वह उससे माफ़ी माँगती है और गाय के पास जाकर उससे भी माफ़ी माँगती है और अंत में गाय भी मुस्कुराकर उसे माफ़ कर देती है| कुछ  समय बाद उसका बेटा भी उस गाय का दूध पीकर ठीक हो जाता है और वह अब कम मुनाफे में भी खुश रहने 

कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती हैं?



दोस्तों मैं इस Story के Through आपको बताना चाहती थी कि अक्सर इंसान ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए बेजुबान जानवर के साथ बुरा व्यवहार करते है और उन बेजुबान जानवरों के लाचार होने के कारण उनका दुर्व्यवहार को सहना पड़ता है|

दोस्तों अक्सर आपने देखा होगा की सड़क पर गाय खाने के लिए घूमती रहती है और कभी-कभी Polythene खा लेती है और Polythene खाने के कारण अपना  दम तोड़ देती है| अगर आप ऐसा कही देखते है तो गाय को Polythene ना खाने दे| क्या पता आपके इस छोटे से कदम से किसी जानवर की जान बच जाए|

एक जानवर की आँखों में  बोलने की एक महान शक्ति होती हैं|

दोस्तों! आपको मेरा यह Article कैसा लगा,Please हमें Comment के Through बताइए और इसे Like,Share ना भूलें|

Thanks For Reading
Sanjana



यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

One thought on “रामू की इंजेक्शन वाली गाय | Ramu Cow Motivational Story in Hindi.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *