कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story in Hindi.

कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story in Hindi.

Who is so powerful Sun or Wind? A motivational story in Hindi.
कौन कितना शक्तिशाली हैं? सूरज या पूर्वी हवा|


कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story in Hindi.
कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story

आज हम एक ऐसी कहानी पढेंगें, जिससे हमें बहुत ही अच्छी सीख मिलेगी| आज के इस Motivational Article में हम यह सीखेंगे कि हमेशा दूसरों पर कठोरता दिखाकर और उनसे जबरदस्ती कर अपनी बात नहीं मनाई जा सकती क्योंकि यह सब अपनी बात मनाने के लिए सही नहीं होते|

अगर आप उनसे निर्मल और शांत तरीके से अपनी बात बनाने की कोशिश करे तो वह बात जरूर बन जाएगी| तो आइये इस Motivational Story को पढ़ना शुरू करे … कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story.

एक बार की बात हैं पूर्व की हवा और सूरज में एक बार बहस शुरू हो जाती हैं| पूर्व की हवा कहती हैं कि मैं सबसे शक्तिशाली हूँ और सूरज कहता हैं कि यह सच नहीं हैं, तुम नहीं मैं सबसे शक्तिशाली हूँ|

यह सुनकर हवा कहता हैं कि नहीं यह सच नहीं हैं, तुम नहीं मैं शक्तिशाली हूँ| यह सुनकर सूरज पूर्वी हवा का विरोध करते हुए कहता हैं कि तुम नहीं मैं सबसे शक्तिशाली हूँ और मेरी गरम किरणें तुम्हारी ठंडी हवा से बहुत प्रभावशाली और ताकतवर हैं|

दोनों में इस बात पर बहुत देर तक बहस होती रही| अंत में दोनों अपने आप को शक्तिशाली साबित करने के लिए उपाय सोचने लगे|

तभी उन्होंने देखा कि रास्ते पर एक मुसाफिर जा रहा था, सूरज ने कहा कि हम में से जिसने उस मुसाफिर को कोट उतारने के लिए मजबूर कर दिया, वहीं शक्तिशाली होगा|

यह भी पढ़े-

यह सुनकर हवा ने हाँ कहा और फिर सूरज ने हवा को पहले उस मुसाफिर को कोट उतारने के लिए कोशिश करने को कहा|

फिर पूर्वी हवा ने उस मुसाफिर की ओर ठंडी हवा से शुरुआत की| फिर हवा ने थोड़ी तेजी ली और उस आदमी के ऊपर से मफलर हट गया लेकिन उसने उस मफलर को तुरंत ही बाँध लिया|

हवा के तेज होते ही उस मुसाफिर ने कहा कि कितनी तेज सर्दी हैं और उस मुसाफिर ने कोट के बटन बंद कर लिए|

कोट के बटन बंद करके वह कहने लगा कि मैंने ऐसी सर्दी पहले नहीं देखी| वह कहता हैं कि ऐसा लगता हैं कि हवा ने मेरा कोट फाड़ने की ठान ली हैं|

हवा जितनी तेज चलती वह आदमी उतनी ही तेजी से अपने आप को पकड़ता| फिर अंत में हवा गुस्से से उस मुसाफिर से टकराई लेकिन उसकी सारी कोशिश बेकार हो गयी और वह उस मुसाफिर से उसका  कोट उतरवाने में असमर्थ हो गयी|

यह भी पढ़े-

पूर्वी हवा हार मानकर कहता हैं कि मुझे विश्वास नहीं हो रहा हैं कि मैं उससे उसका कोट नहीं उतरवा पाया और फिर वह सूरज से कहता हैं कि अब तुम अपना प्रयास शुरू करो|

इसके बाद सूर्य ने चमकना शुरू किया| वह बादल से बाहर आया और मुसाफिर की ओर मुस्कुराने लगा| सूरज ने मुसाफिर पर अपनी कोमल किरणें छोड़ना शुरू की|

सूरज के कोमल किरणें छोड़ते ही मुसाफिर कहता हैं कि अब कितना अच्छा लग रहा हैं| सूरज ओर चमकता गया और धीरे-धीरे शाम होने लगी थी| मुसाफिर चौंकते हुए कहता हैं कि अजीब मौसम हैं,अब मुझे कोट पहनने की जरुरत नहीं हैं|

मुसाफिर ने यह कहकर बड़ी ही ख़ुशी से अपना कोट उतारा| सूरज अपना कार्य करने सफल हो जाता हैं| यह देखकर पूर्वी हवा कहता हैं,मैं समझ गया तुमने अपनी ताकत साबित कर दी हैं, तुम ही सबसे शक्तिशाली हो|

यह छोटी सी कहानी हमें यह सीख देती हैं कि दया और कोमलता की ही हमेशा जीत होती हैं और जोर-जबरदस्ती हमेशा हार का कारण बनती हैं|

इसलिए हमें सब पर दया और कोमलता दिखानी चाहिए और अपने मतलब के लिए किसी पर जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए|

दोस्तों, ‘आपको हमारा आर्टिकल ” कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story “ कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर औरलाइक करना ना भूले|

हमारा फेसबुक पेज- Achhibate 

Thanks For Reading
Sanjana

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram


यह भी पढ़े-

  1. पानी के महत्व को बताते हुए नारे|
  2. स्वच्छता के लिए जागरूक करते हुए नारे|
  3. मदर्स डे पर अनमोल विचार|
  4. एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार|
  5. नरेंद्र मोदी के 40 प्रेरणादायक सुविचार|

यह भी पढ़े- आर्टिकल पढ़िए और Paytm Cash जीतिए|
(Coming Soon, 1 June )

हमारे और भी ब्लॉग पढ़े –

  1. भारतीय और विश्व के लोगों की जीवनी|

One thought on “कौन कितना शक्तिशाली हैं? Powerful Motivational story in Hindi.”

  1. ये कहानी मेने बचपन में सुनी थी जो की हमारे गाँव के लाइब्रेरी में मोटी मोटी किताबो की कहानियो का एक हिस्सा थी. आज भी याद आता है बचपन जब हम ढेरो कहानियां सुनते थे.
    ये कहानी के साथ साथ सीख देने वाली पोस्ट है. हर इन्सान की एक खूबी होती है और हमें उसे पहचान कर आगे बढ़ना चाहिए बजाय झूठे प्रदर्शन के.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *