प्यार को प्यार करो इतना कि दुनिया करना चाहे आपके जितना| True Love Story in Hindi.

प्यार को प्यार करो इतना कि दुनिया करना चाहे आपके जितना | Motivational Love Story in HIndi.



प्यार को प्यार करो इतना कि दुनिया करना चाहे आपके जितना | Motivational Love Story in HIndi.किसी ने सही कहा हैं जिंदगी की किताब पर नया कवर चड़ाइए लेकिन उससे पहले बिखरे हुए पन्ने को जरा प्यार से चिपकाइये|

आज की कहानी उड़ीसा के रहने वाले प्रदुम्न की हैं जिसने बेहद ही सच्चा प्यार किया और बखूबी उसको निभाया हैं|

लड़का उड़ीसा में रहता था और उसके परिवार वाले एक अछूत(Untouchable) जाति से संबंधित(Belong) थे| लेकिन इसके परिवार ने थोड़ा पैसा जमा किया और लड़के को पढ़ने के लिए दिल्ली भेज दिया|

दिल्ली आकर प्रदुम्न ने कॉलेज ऑफ़ आर्ट(College Of Art) में दाखिला लिया| वहां रहकर ये लड़का चित्र(portrait) बनाने लगा और इसकी (portrait) चित्र ने कमाल करना शुरू किया| पूरी दुनिया में प्रसिद्धि(Popularity) मिली|

यहां तक कि लंदन में रहने वाली स्वीडन की 19 साल की  लड़की शैलेर्ड को portrait बहुत पसंद आयी और उसने सोचा कि वह इस कलाकार(Artist) से मिलना चाहती है| वो मिलने और खुद का चित्र(portrait) बनवाने के लिए हिंदुस्तान चली आयी|



यहाँ आकर उसने प्रदुम्न  से मुलाकात की वो प्रदुम्न से अपना चित्र(portrait) बनवाना चाहती हैं| पहली  नजर में प्रदुम्न को शैलेर्ड से प्यार हो गया क्योंकि उसने इतनी सुन्दर लड़की कभी देखी नहीं थी और वाक्य में शैलेर्ड बेहद ही सुंदर थी|

इसने जी जान लगा दी, और बड़ी मेहनत व लगन से अपना शैलेर्ड के सामने बेस्ट देना चाहा और ऐसा हुआ भी प्रदुम्न ने शैलेर्ड की बहुत ही खूबसूरत (portrait)चित्र बनायी और जब शैलेर्ड ने अपना  (portrait) चित्र देखा,तब उसको भी प्रदुम्न से प्यार हो गया|दोनों की लव स्टोरी आगे बढ़ी| शैलेर्ड ने अपना भारतीय(Indian) नाम रख लिया,जोकि चारुलता था और दोनों शादी कर ली|

भारतीय रीति-रिवाज से इसके बाद अब समय आया जुदाई का शैलेर्ड को वापस स्वीडन जाना था| शैलेर्ड स्वीडन चली गयी,लेकिन जाने से पहले कहकर गयी कि तुम्हें मेरे पास में आना हैं अपनी पढ़ाई पूरी करके| तब प्रदुम्न ने भी उससे वादा किया कि वो स्वीडन आएगा| स्वीडन पहुँचने के बाद में लव लेटर भेजने का शिलशिला हुआ| शैलेर्ड स्वीडन से लव लेटर भेजती और प्रदुम्न यहाँ से लव लेटर भेजता|

एक दिन शैलेर्ड ने लिखा कि मुझे तुम्हारी बहुत याद आती हैं| मैं तुम्हारे लिए एयर टिकट भेज रही हूँ| तुम एयर टिकट ले लो और मेरे पास यहाँ आ जाओ| लेकिन इधर से जवाब में प्रदुम्न ने लिखा कि मैं तुम्हारे पास एक दिन ज़रूर आऊँगा,लेकिन अपने खर्चे पर आऊँगा| तुम मेरे लिए एयर टिकट मत भेजना|



उस दौर में एयर टिकट खरीदना और पैसा जमा करना बहुत ही बड़ी बात होती थी| प्रदुम्न ने बहुत मेहनत की जी,जान लगा दी,लेकिन उतना पैसा वो जमा नहीं कर पाया जितना एक एयर टिकट के लिए चाहिए था स्वीडन जाने के लिए| इसको समझ नहीं आ रहा था की क्या करे? इसने दूसरा प्लैन बनाया|

जितना सामान था सब भेज दिया,जो पेंटिंग,ब्रश थी सबको लेकर के एक पुरानी साइकिल खरीदी और साइकिल पर सवार होकर के 8 देशों की यात्रा करके 4 महीने 3 हफ्ता का वक्त लगा|  साइकिल बीस-बीच में टूटी भी खाने के लिए कुछ भी नहीं था|

ये आदमी अपनी पत्नी से अपने प्यार से मिलने के लिए स्वीडन पहुँच गया| स्वीडन में जो ऑफिसर्स थे उसको देखकर चौक गए कि कैसे एक आदमी हिंदुस्तान से साइकिल चला कर यहां पहुँच सकता हैं|

ये बात उन दिनों की हैं जब कई देशों में बिज़ा की जरूरत नहीं होती थी| वहाँ ये बात जंगल में आग की तरह फ़ैल गयी| शैलेर्ड को मालूम चला तो वो मिलने के लिए दौड़ी चली आयी| न सिर्फ शैलेर्ड ने प्रदुम्न को स्वीकार किया बल्कि उसके परिवार वालों ने भी उसको स्वीकार कर लिया|

इन दोनों की शादी को 40 से ज्यादा साल हो गए हैं| इनके दो बच्चे भी हैं और अब जब भी प्रदुम्न हिंदुस्तान आते हैं और उड़ीसा में उस गाँव में जाते हैं,जहाँ के  ये रहने वाले है और जो लोग इन्हे और इनके परिवार को न छूने योग्य समझते थे लेकिन अब वो सब लोग इनका डोल-नगाड़ो के साथ इनका स्वागत करते हैं|

यह कहानी आपको पढ़कर कैसी लगी और क्या प्यार ऐसा ही होना चाहिए| ये आप हमे comment के through बताइये और इसे like और share करना न भूले|  



यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

One thought on “प्यार को प्यार करो इतना कि दुनिया करना चाहे आपके जितना| True Love Story in Hindi.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *