बेजुबान जानवरों के दर्द को बताती कुछ पक्तिंयाँ| Motivational Quotes Wild Animals in Hindi.

बेजुबान जानवरों के दर्द को बताती कुछ पक्तिंयाँ Motivational Quotes Wild Animals in Hindi.
बेजुबान जानवरों के दर्द को बताती कुछ पक्तिंयाँ Motivational Quotes Wild Animals in Hindi.
बेजुबान जानवरों के दर्द को बताती कुछ पक्तिंयाँ Motivational Quotes Wild Animals in Hindi.

लेकिन उसे क्या पता था कि यह इंसान उसकी आँखें हमेशा के लिए बंद कर देंगे| केरल में एक गर्भवती हथिनी भूखी-प्यासी जंगल से भटक कर एक गांव की ओर चली आई| किसी ने उसे पटाखे से भरा फल खिला दिया| हथिनी तो भूखी थी, उसने उस फल को खा लिया और वो फल जाकर उसके जबड़े में फट गया| हथिनी तड़पने लगी, लेकिन इसके बाद भी उसने इंसानों नुकसान नहीं पहुंचाया| अपने उस मासूम की जिंदगी और अपनी जिंदगी के खातिर और अपनी जलन को बुझाने के खातिर वो पानी में जाकर खड़ी हो गई और तीन दिन तक वो खड़ी रहीं| इसके बाद उसने अपना दम तोड़ दिया|

दोस्तों शर्म आती हैं, ऐसी इंसानियत पर जो बेजुबान को भी नहीं छोड़ते| याद रखना वो बेजुबान हैं, वो लड़ेंगी नहीं| वो बदला जरूर लेगी, तुम इन्तजार करो|

वो भगवान से सब कुछ कहेगी| पृथ्वी का और प्रकृति के संग इतना अपमान मत करो क्योंकि वक्त आएगा और चला जाएगा, लेकिन तुम याद रखना कि अगर ऐसा ही रहा तो साल 2020 जैसा एक और साल जरूर आएगा|

दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल केरल में हुए उस बेजुबान हथिनी के साथ हुए अत्याचार पर हैं| तो आइये दोस्तों हमारे हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ते हैं-

अनमोल कथन-1

वो आई थी नादान, शहर खाने की तलाश में,

खाना तो मिला पर मौत के लिबास में|

करती रही संघर्ष वो जीने के लिए बेसहारा,

पर हाय रे इंसान क्यों तुझको फिर भी तरस नहीं आया||

अनमोल कथन-2

अरे इंसान नहीं, शैतान हो तुम और

 वो एक जानवर होकर भी एक माँ थी|

और एक माँ कभी अपने दुख का एहसास,

अपने बच्चे को ना हो, इसलिए वो मरते दम तक भी पानी में थी||

अनमोल कथन-3

अरे परवर्ता की हद कर दी,

एक बेजुबान पर तरस ना आया|

अरे खुद को इंसान कहते हो,

क्यू उस एक जानवर को इतना तरसाया||

अनमोल कथन-4

सोशल मीडिया पर तो,

वो लोग भी हथिनी के लिए बेशुमार प्यार, दया और ममता दिखा रहे हैं|

 जो लोग चिकन और मटन दबा कर खाते हैं,

दोस्तों इन्हें जो आप खा रहे हैं, वो भी एक बेजुबान है,

 कृपया करके इन बेजुबानों पर जुर्म मत कीजिए||

अनमोल कथन-5

लोग बेकसूर को नहीं छोड़ते,

वो तो फिर भी एक बेजुबान थी|

होगी वो एक जानवर उनकी नजरों में,

पर अपने बच्चे के लिए वो केवल एक माँ थी||

अनमोल कथन-6

वो हथिनी भी ऊपर जाकर अपने बच्चे से कह रहीं होगी

कि आराम से खाना खा मेरे बच्चे| ये स्वर्ग हैं,

यहाँ धोखेबाज इंसान नहीं रहते||

अनमोल कथन-7

हैं सोचने की शक्ति हममें,

तभी तो हम इंसान हैं|

होती इनमें ये कला,

तो वो क्यू खाती ये भला||

अनमोल कथन-8

गणेश चतुर्थी के दिन पूजेंगे हम इन्हें,

हमसे बड़ा कौन हैवान हैं|

भूखी थी, इसका बच्चा भूखा था,

विस्फोट से फोड़ा, तो उसे भी दर्द हुआ था|

इंसान हो इंसान की तरह रहो,

इसकी सजा आज नहीं तो कल जरूर मिलेगी|

अनमोल कथन-9

पानी में रहीं तीन दिन वो, वजह प्यास नहीं|

विस्फोट से गला इसका भी सूखा था||

अनमोल कथन-10

हथिनी का बच्चा- माँ ऊपर से तो यह अनानास ही दिख रहा था|

हथिनी- ऊपर से तो वो भी इंसान ही दिख रहे थे||

अनमोल कथन-11

खाना ढूँढती माँ ने उस फल को चबाया,

इंसानियत के पटाखे ने उसके जबड़े को हिलाया|

मरते दम तक उसने इंसान को नुकसान नहीं पहुंचाया,

उस बेजुबान ने मानवता का असली पाठ पढ़ाया||

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल बेजुबान जानवरों के दर्द को बताती कुछ पक्तिंयाँ| Motivational Quotes Wild Animals in Hindi.कैसा लगा? आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading

यह भी पढ़े-  प्रेरणादयक कथन और विचार|  

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े – 

Facebook     Twitter    Instagram