Mahendra Singh Dhoni के Top-11 अनमोल विचार in Hindi.

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पूरे विश्व में अपने कप्तानी के कारण

अपना नाम रोशन किया हैं| इन्होंने अपनी कप्तानी के बलबूते पर भारत को ICC Cricket World Cup और T-20 World Cup की ट्रॉफी जिताई हैं| शुरुआत में यह एक असाधारण और उज्जवल, आक्रामक बल्लेबाज के रूप में जाने जाते थे| यह एक बेहतरीन फिनिशर भी है| तो आइये इनके कहे कुछ ऐसे ही अनमोल विचारों को पढ़ते हैं और अपने आप को क्रिकेट की दुनिया में अग्रसर करते हैं|

 

अनमोल विचार-1

मैं क्रिकेट के मैदान पर अपना 100% से भी ज्यादा देने की कोशिश करता हूँ| यदि मैदान पर मैंने काफी

प्रतिबद्धता दिखाई हैं तब मैं परिणाम के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं होता| यह मेरे लिए एक जीत हैं|

 

अनमोल विचार-2 

आक्रामक क्रिकेट खेलने का और मिड ऑन को ऊपर रखने का युग अब गया| अब आप केवल बालेबाज की मानसिकता को जाने का प्रयास करे|

 

अनमोल विचार-3

मैंने अपने ऊपर दबाव को हावि नहीं होने दिया|

 

अनमोल विचार-4

जब चार तेज गेंदबाज खेलते हैं तो यह एक रणनीति हैं और जब तीन या चार स्पिन गेंदबाज खेलते हैं तो विकेट अच्छी नहीं होती|

 

अनमोल विचार-5

ईश्वर हमारी रक्षा करने नहीं आने वाला|

 

अनमोल विचार-6

आप मरते हो आपको यह पता नहीं होता कि मरने का तरीका कौन सा सबसे अच्छा हैं|

 

अनमोल विचार-7

सिनेमा हमारी भारतीय संस्कृति का एक बड़ा हिस्सा हैं|

 

अनमोल विचार-8

हम सभी को पीने के पानी का महत्व पता हैं| यदि आपके पास हरे जंगल हैं तो जलस्तर ऊपर चला जाता हैं और वनों की कटाई के साथ ही जलस्तर नीचे चला जाता हैं|

 

अनमोल विचार-9

अगर तुमने साल भर पढाई की होगी तो आपको 1 दिन से कोई फर्क नहीं पड़ता| अगर तुमने साल भर पढाई नहीं भी की होगी तो आपको फिर भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा|

 

अनमोल विचार-10

आप श्रीसांत को सर डॉन ब्रॅडमैन की तरह बल्लेबाजी करते हुए नहीं देखना चाहते| ऐसा इसलिए क्योंकि वो उनकी तरह बल्लेबाजी करना चाहते हैं|

 

अनमोल विचार-11

दोस्तों के साथ बाहर जाना और भोजन करना या सड़क के किनारे किसी होटल का भोजन करना-मेरे सबसे अच्छे टाइम पास के तरीके हैं|   

 

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *