लॉक डाउन स्पेशल कहानी| Lock down Story Issac Newton in Hindi.

लॉक डाउन स्पेशल कहानी Lockdown Story Inspired by Issac Newton in Hindi.


यह कहानी सन् 1661की इंग्लैंड में रहने वाले मशहूर आइसेक न्यूटन (Issac Newton) की हैं, सन् 1661 में आइसेक न्यूटन (Issac Newton) जब कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे थे, उन्हें लग रहा था कि जो पढ़ाई वो कर रहे हैं, वो बहुत आउट-डेटड है| वो सोचते थे कि कुछ नया कान्सेप्ट आना चाहिए, कुछ नए रिसर्चसेज होने चाहिए, कुछ नया और हट के होना चाहिए|

उन्हें उस कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ते हुए चार साल हो गये, लेकिन उन्हें कुछ अलग करने का समय नहीं मिल रहा था| इसके बाद सन् 1665 में ब्यूबोनिक नाम की एक महामारी आई|

इस समय जो हालात है, वहीं हालात हो गए थे| हर जगह अभी की तरह लॉक डाउन हो गया था| इंग्लैंड का कैंब्रिज यूनिवर्सिटी भी बंद हो गया था|

जब हर जगह लॉक डाउन हो गया था, तो सभी अपने-अपने घरों में ही बैठे रहते थे| सर,आइसेक न्यूटन (Issac Newton) भी अपने घर चले गए| सभी लोग अपने घरों में सेल्फ आइसोलेशन (Self Isolation) में बैठे हुए थे, आइसेक न्यूटन (Issac Newton) भी अपने घर में सेल्फ आइसोलेशन (Self Isolation) में बैठे हुए थे|


वह घर में बैठकर उन बातों को सोच रहे थे, जिन्हें सोचने के लिए उन्हें समय नहीं मिलता था| वह घर में आराम से बैठकर सोच रहे थे, क्योंकि अभी उनके पास समय ही समय था| जब वह सेल्फ आइसोलेशन (Self Isolation) में थे, तो वह एक दिन अपने गार्डन में घूमने निकले, तब उन्होंने गार्डन में एक पेड़ से सेब का फल गिरते देखा| उन्होंने बहुत गंभीर रूप से उस सेब को गिरते हुए देखा और फिर उस नकारात्मक से माहौल में सकारात्मकता दिखाकर, उन्होंने दुनिया को “Universal Law of Gravity” दिया|

आप सोच सकते हैं कि जब उस समय पूरी दुनिया में नकारात्मकता फैली हुई थी| तो आइसेक न्यूटन (Issac Newton) अपने अन्दर सकारात्मकता लेकर बढ़ रहे थे, कुछ अलग सोच रहे थे, कुछ अलग करना चाह रहे थे|

दोस्तों य़ह छोटी सी कहानी हमें सिखाती है कि हम जिंदगी में कुछ नया कमाल कर सकते हैं, उसके लिए जरूरी है कि हम अपने आप को एनेलाइज (Analyse) करें| दोस्तों आज की कहानी के माध्यम से हम तीन-चार बातें आपसे कुछ और करना चाहते हैं|

  1. जॉब करने वाले लोगों के लिए-

यह पहली बात उन लोगों के लिए हैं, जो कंपनियों में काम करते हैं या कोई और जॉब करते हैं और प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे होते हैं, वह लोग सोचते हैं कि मुझे अपने लिए कुछ अलग करने का समय नहीं मिल रहा है| तो आप लोग अभी लॉक डाउन में बैठे हुए कुछ सोच सकते हैं और कुछ अलग कर सकते हैं|

  1. विद्यार्थियों के लिए-

जो भी विद्यार्थी यह सोचते हैं कि वो जो पढ़ाई कर रहे हैं, वो बहुत बोरिंग हैं| हमें कुछ नया पढ़ने को नहीं मिल रहा है, कुछ नया सीखने को नहीं मिल रहा है| तो आप अपने  घर में बैठे-बैठे इन्टरनेट के माध्यम से कुछ नया सीख सकते हैं|

  1. परिवार को समय देने वाले लोग-

यह बात उन लोगों के लिए हैं, जो कहते हैं कि उन्हें परिवार को समय देने के लिए ही समय नहीं है| मेरे पास तो खुद अपने लिए समय नहीं है| तो अब आपके पास समय ही समय है, अब आप अपने घर में अपने परिवार को समय दे सकते हैं, उनके साथ रहिए और प्यार-मोहब्बत से रहिए|


 इस समय में अपने घर में लॉक डाउन में कुछ नया सीखिए, जैसे कुछ खाना बनाना सीख सकते हो| इससे आप इस समय को यादगार बना पाओगे और इस मिले हुए महत्वपूर्ण समय का उपयोग कर सकोगे|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल क्या कहा मोदी ने आज के अपने भाषण में? PM Modi today Lockdown Speech. कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana


यह भी पढ़े –

लॉकडाउन में किसी गरीब की सैलरी ना रोके Motivational Lockdown Family Story in Hindi.

लॉकडाउन में किसी गरीब की सैलरी ना रोके| Motivational Lockdown Family Story in Hindi.

कोरोना वायरस के कारण पूरा देश एक ही जंग लड़ने में लगा हुआ हैं| इस जंग में सबसे ज्यादा परेशानी ...
Read More
हर समस्या का समाधान जरूर होता हैं There is a solution to every problem.

हर समस्या का समाधान जरूर होता हैं| There is a solution to every problem.

यह कहानी महाभारत के समय की हैं| महाभारत के उस काल में कौरवों और पांडवों के बीच युद्ध चल रहा ...
Read More
गड्ढा खोदने से सीखे ध्यान लगाना Monk King Motivational Story in Hindi.

गड्ढा खोदने से सीखे ध्यान लगाना| Monk King Motivational Story in Hindi.

यह कहानी एक फकीर बाबा कि हैं। जो किसी भी बात को बड़ी अच्छी तरीके से समझाते थे। जिसको भी ...
Read More
Loading...


हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –