अमेरिका ने आप्रवासियों के बसने के लिए फिलहाल रोक लगायी| Immigrants America.

अमेरिका ने आप्रवासियों के बसने के लिए फिलहाल रोक लगायी Immigrants America
अमेरिका ने आप्रवासियों के बसने के लिए फिलहाल रोक लगायी Immigrants America
अमेरिका ने आप्रवासियों के बसने के लिए फिलहाल रोक लगायी Immigrants America.

अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 45000 से अधिक हो गयी हैं| अमेरिका में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या आठ लाख से भी अधिक हो गयी हैं| इसी बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आप्रवासियों (Immigration) के अमेरिका में बसने के लिए फिलहाल रोक लगा देने की बात कही हैं| और कहा है कि जो ग्रीन कार्ड इशू होते हैं, उन पर 60 दिनों के लिए रोक रहेंगी| दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल इसी मुद्दे पर हैं| तो आइये दोस्तों अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के इस निर्णय के बारे में थोड़ा अच्छे से पढ़कर जानते हैं-

 

आप्रवासियों (Immigration) के लिए अमेरिका में रोक लगाने का कारण-

इसका कारण डोनाल्ड ट्रम्प मे बताया हैं कि ऐसे हालत में लोगों की नौकरियों पर असर पड़ा हैं| तो कहीं बाहर से आने वाले लोग, यहाँ के लोगों की नौकरियां ना हथिया ले| इस कारण डोनाल्ड ट्रम्प ने यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया हैं| पिछले कुछ सप्ताह में लगभग दो करोड़ अमेरिकी लोगों के नौकरियों पर  असर पड़ा हैं और कई परिवारों के हालात अच्छे नहीं हैं|

आप्रवासियों (Immigrants) के लिए पूरी तरह से नहीं लगेगी रोक-

लेकिन ऐसा नहीं हैं कि अमेरिका में जो वर्कर्स काम करने के लिए आते हैं, उनका यहाँ आना पूरी तरह से बंद हो जाएगा| रिपोर्ट के मुताबिक कहा गया हैं कि जो खेतों में काम करने वाले वर्कर्स हैं या दूसरी तरह के वर्कर्स हैं, उनका आना या फिर उनके वीजा का प्रोसेस जारी रहेगा और इसका कारण बताया गया हैं कि अगर ऐसा नहीं होता हैं, तो जो बड़े बिजनेस हैं, उन पर असर पड़ सकता था, उनके मुनाफे या फिर उनके उनके बिजनेस पर असर पड़ सकता था|

आप्रवासियों (Immigrants) को क्या-क्या छूट दी गई हैं-

तो इसलिए यह छूट दी गई हैं, अभी इस फैसले पर और जानकारी आना बाकी हैं| लेकिन जो लोग हफ्तों से, महीनों से ग्रीन कार्ड का इन्तजार कर रहे होंगे, यह उनके लिए बिल्कुल भी अच्छी खबर नहीं हैं|

एक सोच यह भी हैं कि ऐसे हालात में जब इस प्राइसेस के कारण अमेरिका में आना-जाना, वैसे ही बहुत कम हो चुका हैं| तो उसका जमीन पर कितना असर पड़ेगा यह हमें अभी देखना होगा|

यह निर्णय अपने पूर्व वोटर बेस के आधार पर ट्रम्प ने लिया हैं-

2016 के जो राष्ट्रपति चुनाव हुए थे, जिसमें डोनाल्ड ट्रम्प को राष्ट्रपति बनाया गया| उस समय आप्रवासी (Immigration) भी एक बहुत बड़ा मुद्दा रहा था| इस ताजा फैसले पर राष्ट्रपति ट्रम्प कह रहे हैं कि यह फैसला इसलिए लिया गया हैं, ताकि उनका जो पूर्व वोटर बेस हैं, उनके समर्थकों का जो एक हिस्सा हैं, वो आप्रवासियों (Immigration) के खिलाफ हैं, उन्हें बिल्कुल खुश किया जाए और ये जो पूर्व वोटर बेस का हिस्सा हैं, वो हमेशा से ही आप्रवासियों (Immigration) पर पूरी तरह से रोक लगाने की बात कहता रहा हैं और वो भी अभी इस ताजा फैसले से खुश नहीं हैं और उसका कहना हैं कि इसने और कड़ाई लानी जानी चाहिए| इसको और कड़ा किया जाना चाहिए और पूरी तरह से आप्रवासियों (Immigrants) पर रोक लगानी चाहिए|

कोरोना क्राइसेस के दौरान अमेरिका में कितने आप्रवासी कर्मचारी (Immigrant workers) हैं-

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प इसकी बात कर रहे हैं, जब अमेरिका में कोरोना क्राइसेस हैं और अमेरिका में हजारों लोगों की मौत हुई हैं और विदेश से आने वाले जो डॉक्टर हैं या फिर जो कर्मचारी हैं, इस वायरस के खिलाफ लड़ाई में उनकी एक बहुत अहम भूमिका रहीं हैं|

एक रिपोर्ट के आधार पर अमेरिका में जो कोरोना क्राइसिस हैं, उसके दौरान लोगों को स्वस्थ रखने में, उन्हें खाना खिलाने में और उनका ध्यान रखने में करीब 60 लाख आप्रवासी कर्मचारी(Immigrant workers) ya फिर लोग लगे हुए हैं|

कोरोना के खिलाफ अमेरिका में दूसरे देश से आने वाले लोगों का अहम योगदान रहा हैं-

अमेरिका में जो कुल डॉक्टर्स हैं, उनका एक-चौथाई वो विदेश से आता हैं| स्वास्थ्य कर्माचारी हो गए या ग्रोसरी में काम करने वाले लोग हो गए, खेतों में काम करने वाले लोग हो गए, उनका एक बड़ा हिस्सा विदेश से आता हैं| जो यहाँ कि टेक कंपनियां हैं, उनके, उनकी सफलता में जो विदेश से आने वाले लोग हैं, उनका एक बहुत बड़ा योगदान रहा हैं|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल अमेरिका ने आप्रवासियों के बसने के लिए फिलहाल रोक लगायी| Immigrants America. आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana Singh

यह भी पढ़े- Latest News Articles

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *