अमेरिका की कोरोना के खिलाफ दस बड़ी गलतियाँ| America Coronavirus.

अमेरिका की कोरोना के खिलाफ दस बड़ी गलतियाँ America Coronavirus.
अमेरिका की कोरोना के खिलाफ दस बड़ी गलतियाँ America Coronavirus.
अमेरिका की कोरोना के खिलाफ दस बड़ी गलतियाँ America Coronavirus.

आज पूरा विश्व केवल एक वायरस, एक ऐसे वायरस की वजह से परेशान हैं, जिसने पूरे विश्व में वैश्विक महामारी का दर्जा प्राप्त कर लिया हैं| कोरोना वायरस चीन के वुहान से पैदा हुआ और  धीरे-धीरे सभी देशों में फैल गया और इसने सभी देशों में दहशत मचा दी| इस वायरस के कारण सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका में हुई हैं| अमेरिका प्रशासन ने इस वायरस के प्रति जल्द एक्शन नहीं लिया और जब एक्शन लिया तो बहुत देर हो चुकी थी| तो आइये दोस्तों हमारे आज के Article से अमेरिका प्रशासन की कोरोना वायरस के खिलाफ उन दस बड़ी गलतियों को जानते हैं-

पहली गलती-1

राज्‍यों के गवर्नरों की राय और हेल्‍थ डिपार्टमेंट के टॉप विशेषज्ञों की राय को राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने नजरअंदाज किया| अमेरिका के टॉप विशेषज्ञ डॉक्‍टर फॉसी से उनका टकराव इसका जीता जागता सुबूत है|

दूसरी गलती- 2

अमेरिका के वॉशिंग्टन में 19 जनवरी को कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था| इसके बाद लगातार कोरोना वायरस के मामले सामने आते रहे| लेकिन अमेरिका के प्रशासन ने इस पर काफी देर होने के बाद एक्शन लिया|

तीसरी गलती- 3  

न्‍यूयॉर्क में कोरोना वायरस की वजह से 14 मार्च को पहली मौत हुई थी गवर्नर ने 7 मार्च को ही यहाँ पर स्‍टेट इमरजेंसी का एलान कर दिया था और लोगों को घरों में रहने की सलाह दी थी| कुछ लोगों ने लापरवाही दिखाई और यह वायरस बेकाबू हो गया|

न्यूयॉर्क के तट पर 23 मार्च को सैकड़ों लोगों की जमा भीड़ की फोटो वायरल होने के बाद गवर्नर ने लॉकडाउन को सख्‍ती से पालन करने के आदेश दिए थे|

चौथी गलती- 4  

राष्‍ट्रपति ट्रंप की तरफ से लगातार ये कहा जाता रहा कि प्रशासन इस पर काबू पा लेगा और इसकी वजह से अमेरिकियों को कोई खतरा नहीं है| फिर इसके बाद इस वायरस को अमेरिकी राष्ट्रपति और वहाँ के निवासियों द्वारा गम्भीरता से ना लेने के कारण हालत बहुत खराब हो गए|

पाँचवी गलती- 5  

मिशिगन, वाशिंग्टन, न्यू यॉर्क और कैलिफोर्निया में हेल्‍थ वर्कर्स ने दो दिन पहले ही सड़कों पर उतरकर वेंटिलेटर, मास्‍क, गाउन की कमी के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया था|

छठी गलती- 6  

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस वायरस से लड़ने और इसकी रोकथाम पर ध्‍यान देने की बजाए डब्‍ल्‍यूएचओ से भिड़ गए थे और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इसकी फंडिंग रोकने तक का फैसला ले लिया था|

सातवीं गलती- 7 

जब दूसरे देश उस वक्‍त केवल इसकी रोकथाम पर ही ध्‍यान दे रहे थे| तब राष्‍ट्रपति ट्रंप इस वायरस की उत्‍पत्ति के लिए चीन को घेरते दिखाई दिए थे|

आठवीं गलती- 8  

जिस वक्‍त तक चीन ने अपने यहां पर बाहर से आने और जाने वाली सभी उड़ाने बंद कर दी थी तब तक 4 लाख से अधिक लोग चीन से अमेरिका पहुंच चुके थे।

नौवीं गलती- 9  

चीन में इस वायरस के लगातार फैलने की बीच अमेरिका ने चीन को काफी मात्रा में पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्‍यूपमेंट्स दिए थे| उस वक्‍त तक ये वायरस अमेरिका समेत कई देशों में फैल चुका था| इसके बाद भी अमेरिका में लगातार बढ़ रहे मामलों पर ध्‍यान नहीं दिया गया| इसकी वजह से अमेरिका में ही इन इक्‍यूपमेंट्स की कमी हो गई| कुछ दिन पहले ही वाशिंगटन में हेल्‍थ वर्कर्स ने इसके खिलाफ अपने गुस्‍से का भी इजहार किया था|

दसवीं गलती- 10

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कोरोना वायरस को  22  मार्च की तारीख  को Major Disaster घोषित किया था|इसी के साथ – साथ गवर्नर ने घर से बाहर न निकलने की  सलाह भी दी थी| इसको बाद में 4 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया हैं|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल अमेरिका की कोरोना के खिलाफ दस बड़ी गलतियाँ| America Coronavirus. आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana Singh

यह भी पढ़े- Latest News Articles

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *