अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा| kerala Elephant Pineapple Eating Death News in Hindi.

अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा kerala Elephant Pinapple Eating Death News in Hindi.
अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा kerala Elephant Pinapple Eating Death News in Hindi.
अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा| Kerala Elephant Pineapple Eating Death News in Hindi.

लोग अपने मनोरंजन के लिए जानवरों को अपना शिकार बना रहे हैं| तीन महीनों से घर में कैद रहकर भी अक्ल नहीं आ रहीं हैं|प्रकृति और प्राकृतिक संसाधनों से खिलवाड़ करने वालों ईश्वर से डरों| ईश्वर ने तुम्हें संसार का सर्वश्रेष्ठ रूप दिया इंसानों का और तुम लोग उसकी कदर नहीं करते हो| बेजुबान जानवर ने तुम्हारा क्या बिगाड़ा हैं जो तुम इंसान उनके साथ ऐसे दुष्कर्म करते हो|

जितना इस धरती पर तुम्हारा हक हैं, उतना ही जानवरों का भी हक हैं| तो दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल केरला में एक हथिनी के साथ दुर्व्यवहार करने का मामला सामने आया हैं| ये घटना इंसानियत को तार-तार करती है| 

केरल के मलप्पुरम की दर्दनाक कहानी-

उत्तरी के केरल के मलप्पुरम जिले इंसानियत को शर्मसार और बेहद ही चौंकाने वाली  एक घटना सामने आयी हैं| यहां के कुछ लोगों ने मिलकर गर्भवती हथिनी को विस्फोटक से भरा अनानास खिला दिया| जिससे उसकी ऐसी स्थिति हो गयी कि मरने के लिए वह एक नदी में 3 दिन तक अपनी मौत का इन्तेजार करती रहीं और 3 दिन बाद उसकी दर्दनाक मौत हो गयी|

जानवर इंसानों पर इतनी जल्दी भरोसा कर लेते है और ये इंसान उनके साथ ऐसे क्या करते हैं? एक बार फिर देश में ये सवाल उठ गया कि इस धरती पर रह रहे सभी जानवर सुरक्षित हैं?

कैसे हुई गर्भवती हथिनी की मृत्यु?

दक्षिण भारत के केरल राज्य में एक गर्भवती हथिनी विस्फोटक भरा एक अनन्नास खाने से मौत हुई| खबरों की मुताबिक कुछ शरारती तत्वों ने उस हथिनी वो विस्फोटक भरा अनन्नास खिला दिया| मानव और जानवरों के बीच संघर्ष में मानवता के पतन की ये एक और कहानी हैं|

तीन दिन खड़ी रही हथिनी नदी में-

अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा kerala Elephant Pinapple Eating Death News in Hindi.
अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा| Kerala Elephant Pineapple Eating Death News in Hindi.

दोस्तों, हथिनी का दर्द इतना था कि वह उसको सहन नहीं कर पा रहीं थीं| जिसके लिए उसे सिर्फ और सिर्फ नदी ही एकमात्र सहारा दिखा| वह उस नदी में चली गयी और तीन दिन तक हथिनी अपनी सिर और सूंड नदी में डाली रहीं| शायद ऐसे करने से उसको अपने दर्द से थोड़ी राहत मिल रहीं हो| अंत में हथिनी जिंदगी से हार गयी और 27 मई को उसकी मृत्यु हो गयी|

वन विभाग ने मदद करने की कोशिश की-

वन विभागों के अधिकारियों का कहना हैं कि हथिनी को नदी से बाहर निकालने के लिए उन्हें अपने साथ दो हाथी को लाना पड़ा, ताकि वह उसे खींचकर हथिनी को किनारे तक ला सके| लेकिन  वन विभाग के अधिकारी समय पर उस  हथिनी की मदद नहीं कर पाए|

जब तक वह वहां पहुँचे और उन दो हाथियों से उसको बाहर निकालना चाहा तो वह हथिनी खुद ही नहीं निकलना चाहती थी| ऐसा वहां पर मौजूद लोगों को प्रतीत हो रहा था|

वन विभाग के मुताबिक हथिनी की उम्र कितनी थी?

वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक हथिनी की उम्र 14 या 15 साल रही होगी| जानवरों के डॉक्टरों ने हथिनी के मरने के बाद जब उसका पोस्टमार्टम किया गया, तो पता चला की हथिनी गर्भवती थी|

क्या हथिनी के इंसानों पर भरोसा करके गलती की?

हथिनी को शायद भूख लगी होगी इसलिए वह अपने गर्भ में पल रहे शिशु के लिए खाना ढूंढ रही थी| लेकिन कुछ शरारती लोगों ने उस हथिनी को विस्फोटक से भरा अनन्नास खिला दिया| हथिनी और उसके पेट में पल रहे शिशु ने तो ये सोचा होगा कि ये इंसान उसे खाना दे रहे है| लेकिन उन्हें क्या पता था कि वो खाना नहीं उनको मौत दे रहे हैं| बेजुबान जानवरों के साथ ऐसे दुर्व्यवहार करते हुए लोगों ने एक बार फिर से इंसानियत को नीचे गिरा दिया है|

इंसान के पास दिल हो या ना हो लेकिन जानवर के पास दिल जरूर होता हैं-

हथिनी ने अनन्नास खाया उसके बाद उसके पेट में कुछ हलचल सी उसे समझ नहीं आ रहा था कि उसके साथ क्या हो रहा हैं| हथिनी के मुँह में ही वो विस्फोटक भरा अनन्नास फट गया| जिससे उसके जबड़े और आगे दोनों दांत टूट गए| हथिनी अपने बचाव के लिए एक गाँव की ओर भागने लगी|

हथिनी इतनी घायल थी लेकिन उसके बावजूद भी उसने गाँव के किसी भी व्यक्ति को हानि नहीं पहुंचाई| हथिनी भलाई से भरी हुई थी| उसका दर्द कोई भी समझ सकता हैं| जिस दर्द से वो हथिनी गुजर रहीं होगी शायद ही ऐसा दर्द भगवान किसी इंसान या जानवर को दे|

कैसे इस घटना के बारे में लोगों को पता चला?

तो दोस्तों, इस घटना के बारे में लोगों को फेसबुक पोस्ट से पता चली थी| वन अधिकारी मोहन कृष्णन्न ने अपने फेसबुक पेज पर

करके बताया कि एक गर्भवती हथिनी खाने की तलाश में भटकते हुए जंगल के पास वाले गाँव में आ गयी थी| उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि घायल होने बाद भी हथिनी ने किसी को भी चोट नहीं पहुंचाई| हथिनी भलाई से भरी हुई थी|

दोस्तों, मेरा आपसे सवाल आप इस दर्दनाक घटना पर क्या कहना चाहते हो| हमारे साथ जरूर कमेन्ट बॉक्स में शेयर करें|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल यह अनानास खाने से केरल में गर्भवती हथिनी ने दम तोड़ा| kerala Elephant Pineapple Eating Death News in Hindi. आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

यह भी पढ़े- Latest News Articles

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram