सऊदी अरब को कोरोना वायरस से क्या नुकसान हुआ? What damage has Saudi Arabia suffered from the coronavirus?

सऊदी अरब को कोरोना वायरस से क्या नुकसान हुआ What damage has Saudi Arabia suffered from the coronavirus
सऊदी अरब को कोरोना वायरस से क्या नुकसान हुआ What damage has Saudi Arabia suffered from the coronavirus
सऊदी अरब को कोरोना वायरस से क्या नुकसान हुआ What damage has Saudi Arabia suffered from the coronavirus?

संपूर्ण विश्व में कोरोना वायरस के चलते पैदा हुई महामारी के कारण कई देशों को मुख्य चीजों का नुकसान हुआ हैं| जैसे कच्चे तेल का व्यापार करने देशों की अर्थव्यवस्था पर बहुत फर्क पड़ रहा हैं| कच्चे तेल के व्यापार करने वाले देशों में से एक सऊदी अरब को भी इस कोरोना वायरस संकट से खूब नुकसान का सामना करना पड़ रहा हैं| दोस्तों हमारा आज का यह Article इसी विषय पर हैं| तो आइए दोस्तों हमारे आज के इस Article को पढ़ते हैं-

सऊदी अरब में किन-किन चीजों में कमी हो गई हैं-

कभी टैक्स फ्री होने वाला सऊदी अरब ने अपने यहाँ वैल्यू एडिट टैक्स पाँच फीसदी से बढ़ा कर पंद्रह फीसदी तक कर दिया हैं|सऊदी अरब में कर्मचारियों को हर महीने दिए जाने वाले भत्ते (छूट) को भी खत्म कर दिया हैं| वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमत पिछले साल के मुताबिक आधे से भी कम हो गई हैं| कच्चे तेल की कीमत में गिरावट के कारण सऊदी अरब के राजस्व में बाइस फीसदी तक की कमी आ गई हैं|

क्या सऊदी अरब कच्चे तेल के कारण पैदा हुए संकट से लड़ने में सक्षम हैं?

सऊदी अरब के पास अपना सार्वजनिक निवेश फंड हैं, जो करीब 320 अरब डॉलर का हैं| सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी अरामकों के पास पिछले साल तक सत्रह अरब डॉलर तक की सम्पत्ति थी| यह संपति गूगल और अमेजोन की संपति के बराबर हैं| सऊदी अरब ने इसका छोटा सा हिस्सा डेढ़ फीसदी बेचकर पच्चीस अरब डॉलर कमाया था| यह इतिहास में शेयर की सबसे बड़ी बिक्री थी|

सऊदी अरब ने बहुत संपति बना रखी हैं, उसके पास इतना रिजर्व हैं कि वो इस स्थिति में खुद को खुद को संभाले रख सकता हैं| वह अब भी बाजार में अपनी हिस्सेदारी को स्थिर रखते हुए, तेल की कीमतों में गिरावट के इस दौर से निकल सकता हैं|

अरब में लिए गए निर्णय कैसे वहाँ के लोगों के लिए नुकसानदायक हो सकता हैं?

कोरोना वायरस के कारण हाल ही में लिए गए कठोर निर्णय वहाँ के लोगों के लिए अच्छी खबर नहीं हैं| खास कर सऊदी अरब जब कच्चे तेल के व्यापार करने के अलावा दूसरे क्षेत्रों में भी आगे बढ़ रहा था| सऊदी अरब के वित्त मंत्री ने खुद इन लिए गए फैसलों को तकलीफदेह बताया हैं| इस साल की पहली तिमाही में सऊदी अरब का बचत खाता नौ अरब डॉलर का हैं|

सऊदी अरब के दूसरे देशों के साथ रिश्ते कैसे चल रहे हैं?

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन क्राउन प्रिंस के बड़े सहयोगियों के साथ अच्छे रहे हैं| लेकिन इस साल तेल के भंडार खोलकर उनकी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा कर उन्होंने दोनों की ही नाराजगी मोल ली हैं|सऊदी अरब के ईरान के साथ भी रिश्ते तनावपूर्ण हैं| दोनों देश कोल्ड वार(Cold War) में उलझे हुए हैं| कतर (Qatar) के साथ ईरान के रिश्ते फिर भी थोड़े बेहतर हैं|

सऊदी अरब में पहले ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं हुई थी-

सऊदी अरब आज जिस स्थिति में वो उसके लिए उतनी अच्छी नहीं हैं, जितनी हमेशा हुआ करती थी| इसके बावजूद सऊदी अरब अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर बड़ा दाव रखता हैं| इस साल सऊदी अरब में नवंबर में G-20 सम्मेलन भी होने वाला हैं| इसके सहयोगियों इसे एक ऐसा पार्टनर मानते हैं, जिसकी उपस्थिति परेशान करने वाली हैं| लेकिन वो इसे नजर अन्दाज भी नहीं कर सकते हैं| विदेशों में जो क्राउन प्रिंस की छवि हैं, उसके उलट वो अपने देश के युवाओं में काफी प्रसिद्ध हैं|

Note-1 कैश जीतिए प्रतियोगिता और नियम के बारे में जाने- Click Here (Note- यह प्रतियोगिता 1 june 2020 से शुरू होगी) 

Note-2 आर्टिकल पढ़ कर उत्तर दीजिये और कैश जीतिए प्रतियोगिता के लिए नीचे दिये गए सवालों के उत्तर हमारे फेसबुक पेज Achhibate पर हमें भेजिये| (Note- यह प्रतियोगिता 1 june 2020 से शुरू होगी)  

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल सऊदी अरब को कोरोना वायरस से क्या नुकसान हुआ? What damage has Saudi Arabia suffered from the coronavirus? आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana Singh

यह भी पढ़े- Latest News Articles

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *