माँ के कदमों में जन्नत नहीं होती| Motivational Mother Love Story in Hindi.

माँ के कदमों में जन्नत नहीं होती| Motivational Success Mother Story in Hindi.

माँ के कदमों में जन्नत नहीं होती| ” आँचल और गोद “
Motivational Success Mother Love Story in Hindi


दोस्तों हमारा आज Topic माँ के बारे में हैं! जिसने हमे जन्म दिया और ना जाने कितनी रातें जागकर हमे पाला हैं| माँ एक ऐसा अदभुद शब्द माना गया हैं, जिसकी कोई कल्पना नहीं की जा सकती हैं| ऎसे बहुत से महान लोगों का मानना हैं कि माँ के कदमों में जन्नत पायी हैं, लेकिन मेरा मानना यह हैं कि माँ के आँचल और गोद में जन्नत पायी जाती हैं|

क्योंकि माँ कभी भी अपनी सन्तान को अपने कदमों में नहीं आने देती हैं, इसलिए दोस्तों अपनी माँ के साथ अच्छा व्यवहार करा करो और उनको जीवन की हर खुशी दिया करो|

तो आइए, दोस्तों एक ऎसे ही बहुत खूबसूरत कहानी को हम आपके साथ शेयर करना चाहते हैं| जो माँ के दर्द को साफ साफ दिखलाती हैं|

रोहन की माँ की सिर्फ एक ही आँख थी, इसलिए रोहन उनसे बेहद नफरत करता था|उसकी माँ फुटपाथ पर एक छोटी सी दुकान चलाती थी| रोहन को उनके साथ खड़े होने में भी शर्मिन्दगी महसूस होती थी| एक बार रोहन की माँ उसके स्कूल चली गयी और रोहन को फिर से बहुत शर्मिन्दगी महसूस हुई|

अगले दिन स्कूल मे रोहन की क्लास के बच्चों ने उसका बहुत मजाक उड़ाया| रोहन के मन में फिर से अपनी माँ के लिए बेकार से ख्याल आने लगे| वह सोचने लगा कि मेरी माँ इस दुनिया से गायब हो जाए|

फिर उसने अपनी माँ से पूछा कि भगवान ने आपको दूसरी आँख क्यों नहीं दी हैं? तुम्हारी वजह से हर कोई मेरा मजाक उड़ाता हैं| तुम मर क्यों नहीं जाती हो? इतना सुनने पर भी उसकी माँ ने कुछ नहीं कहा|

पर उसने उसी समय तय कर लिए की मैं बड़ा होकर एक सफल आदमी बनूँगा ताकि मुझे अपनी एक आँख वाली माँ और इस गरीबी से छुटकारा मिल जाए| उसके बाद रोहन ने बहुत मेहनत से पढ़ाई की और माँ को छोड़कर शहर आ गया|

यूनिवर्सिटी की डिग्री ली, शादी की, नया घर खरीदा और उसके बच्चे हुए और अब वह एक सफल व्यक्ति बन गया था| रोहन अपनी लाइफ में बहुत खुश था और सबसे ज्यादा खुशी इस बात की थी उसकी इस सफल लाइफ में उसकी एक आँख वाली माँ नहीं थी|

जिनसे वह बहुत नफरत करता था, और उनसे जुड़ी कोई भी यादे नहीं थी| दिन-ब-दिन रोहन की खुशियां बढ़ती जा रही थी|

तभी अचानक से रोहन ने कुछ ऎसा देखा जिसकी उसको कल्पना भी नहीं थी| रोहन के सामने उसकी माँ खड़ी थी वो भी अपनी एक आँख के साथ, रोहन लगा कि मेरी खुशहाल दुनिया फिर से बिखर गयी हैं|

 

रोहन ने उनसे पूछा-आप कौन हो?

मैं आपको नहीं जानता हूँ…..

आपकी हिम्मत कैसे हुई यहां आने की..??

तुरंत मेरे घर से बाहर निकल जाओ, और

माँ ने जवाब दिया- माफ करना शायद मैं गलत पते पर आ गयी हूँ|

वो वहां से चली गयी और रोहन यह सोचकर खुश होने लगा कि शायद उसकी माँ ने उसे पहचाना नहीं|

इसके कुछ दिन बाद रोहन के  घर स्कूल री- यूनियन की चिट्टी पहुंची और चिट्टी मिलते ही वह अपने पुराने शहर पहुंच गया|पता नहीं उसके मन में क्या हुआ की वह अपने पुराने घर भी गया जहां वह अपनी एक आँख वाली माँ के साथ रहता था|

उसकी माँ जमीन पर मृत पड़ी थी लेकिन उसकी आंखों से एक बूंद आंसू तक नहीं गिरा| माँ के हाथ में कागज का टुकड़ा था जो रोहन के नाम की पहली और आखिरी चिट्टी थी|

माँ ने चिट्टी में लिखा था-

मुझे लगता हैं मैंने अपनी जिंदगी जी ली हैं| मैं अब तुम्हारे घर कभी नहीं आऊंगी| बस मैं तुमसे एक बात कहना चाहती हूं कि मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ|

मुझे तुम्हारी बहुत याद आती हैं, लेकिन मुझे माफ कर देना कि मेरी एक आँख की वजह से तुम्हें जिंदगी भर शर्मिन्दगी महसूस करनी पड़ी|

जब तुम छोटे थे तो एक दुर्घटना में तुम्हारी एक आँख चली गयी थी, एक माँ होने के नाते से मैं यह सब नहीं देख सकती थी कि तुम एक आँख के साथ बड़े हो और पूरा जीवन एक आँख के साथ ही व्यतीत करो, इसीलिए मैंने तुम्हें अपनी एक आँख दे दी थी|

मुझे इस बात का गर्व था कि मेरा बेटा मेरी दी हुई आँख से पूरी दुनिया को देख पा रहा हैं| मेरे बेटे मेरी तो पूरी दुनिया तुम्हीं से हैं इसलिए मैंने तुम्हें अपनी एक आँख दे दी|

चिट्टी पढ़कर रोहन की दुनिया बिखर गयी और रोहन पहली बार अपनी माँ के लिए बहुत रोया, जिसने अपनी जिंदगी मेरे नाम कर दी………… मेरी माँ…..

माँ मुझे माफ कर दो मैंने तुम्हारे साथ बहुत गलत किया हैं………. लेकिन अब इन सब बातों का क्या मतलब उसकी माँ तो उसे छोड़कर जा चुकी थी| Friend’s  भगवान हर जगह नहीं जा सकते हैं इसलिए उन्होंने माँ बनाई हैं तो उनकी कदर करे और उनको सम्मान दे| और किसी महान व्यक्ति ने कहा हैं कि ताज महल सबने देखा हैं सिवाय मुमताज के …………

आप सभी लोग जो भी करना चाहते हैं वो इसी जन्म में अपने माँ-बाप के जीवित  रहते हुए करे और उनको हर एक खुशी दे|

मरने के बाद इंसान कहाँ जाता हैं यह किसी ने नहीं देखा हैं इसलिए अपने माँ-बाप और आप जिससे बेहद प्यार करते हैं उनकी कदर उनके रहते हुए करे|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल माँ के कदमों में जन्नत नहीं होती|  Motivational Success Mother Story in Hindi. कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana