ज्योतिरादित्य सिंधिया का जीवन परिचय| Jyotiraditya Scindia Biography ( Jivni ) in Hindi.


Indian Politician Jyotiraditya Scindia Biography ( Jivni ) in Hindi
भारतीय राजनेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का जीवन परिचय


ज्योतिरादित्य सिंधिया एक ऐसा नाम जो केवल पूरे मध्य प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में देश की राजनीति का भी बेहद मशहूर नाम है| य़ह भारत सरकार की पंद्रहवी लोक सभा के मंत्रिमंडल में वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री भी रह चुके हैं| य़ह मनमोहन सिंह की अगवाही में केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं| वैसे तो इन्हें किसी परिचय की जरूरत नहीं है क्योंकि इन्हें ग्वालियर राज्य में हर एक बच्चा-बच्चा जानता है| तो आइए दोस्तों मध्य प्रदेश के इस राजनेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बारे में थोड़ा और अच्छे से जानते हैं-

ज्योतिरादित्य सिंधिया का जीवन परिचय-

नाम – ज्योतिरादित्य सिंधिया

उपनाम – ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया

माताजी का नाम – माधवी राजे सिंधिया

पिताजी का नाम – माधवराव सिंधिया

जन्म तिथि – 1 जनवरी, 1971

जन्म स्थान – मुंबई

उम्र – 49 साल (सन् 2020 में)

शिक्षा – बॉम्बे के कैम्पियन स्कूल, दून स्कूल,

         होवार्ड विश्वविद्यालय

वैवाहिक स्थिति – विवाहित

शादी की तारीख – 12 दिसम्बर, 1994

पत्नी का नाम – प्रियदर्शिनी सिंधिया

संतान – एक बेटा और एक बेटी

बेटा/बेटी का नाम – आर्यमान सिंधिया और

                         अनन्या राजे सिंधिया

व्यावसाय – भारतीय पोलिटिशियन

राजनीतिक पार्टी – भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस

राजनीतिक पद – वाणिज्य और उद्योग राज्यमंत्री

राशि – मकर

धर्म – हिन्दू

राष्ट्रीयता – भारतीय

जाति – क्षत्रिय

ज्योतिरादित्य सिंधिया का Body Measurement-

लंबाई – 5 फीट 7 इंच (लगभग)

वजन – 72 किलो (लगभग)

आँखों का रंग – काला

बालों का रंग – काला

ज्योतिरादित्य सिंधिया का जन्म, शिक्षा और परिवार –

ज्योतिरादित्य सिंधिया का जन्म 1 जनवरी, 1971 में मुंबई के जाने माने शहर में हुआ था|  इनकी माताजी का नाम माधवी राजे सिंधिया और पिता की नाम माधवराव सिंधिया हैं| इन्होंने हावर्ड यूनिवर्सिटी से सन् 1993 में इकोनॉमी की डिग्री प्राप्त की और स्टैनफोर्ड ग्रैजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस से सन् 2001 में एमबीए

की डिग्री प्राप्त की| इनकी जीवनसाथी (पत्नी) का नाम  प्रियदर्शिनी सिंधिया हैं| इनके एक बेटा और एक बेटी है, जिनका नाम महा आर्यमान और अनन्या राजे सिंधिया हैं|

सिंधिया राजघराने का राजनीति में राज-

ज्योतिरादित्य सिंधिया का अपने राजघराने के तीसरे पीढ़ी के नेता हैं| य़ह अपने गढ़ में बहुत गहरी पकड़ रखते हैं| इसमे कोई भी शक नहीं होना चाहिए कि आज भी मध्य प्रदेश में कोई भी ऐसा नेता नहीं हैं जो ज्योतिरादित्य सिंधिया को मात दे सके| राजनीति में सबसे पहले इनकी दादी विजयाराजे सिंधिया और उसके बाद इनके पिता माधवराव सिंधिया और इसके बाद य़ह ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना और मध्य प्रदेश की राजनीति की कमान संभाले हुए हैं| हालांकि य़ह बात अलग हैं कि इनकी दादी और इनके पिता दो अलग दल के थे लेकिन आज भी मध्य प्रदेश में सिंधिया परिवार की राजनीति का ही राज चलता है|

ज्योतिरादित्य सिंधिया का राजनीतिक जीवन-

ज्योतिरादित्य सिंधिया का य़ह सफल राजनीतिक करियर अपने पिता जी की मृत्यु के बाद शुरू हुआ था|

पिता की मृत्यु के बाद राजनीति का सारा कारोबार ज्योतिरादित्य सिंधिया के कंधो पर आ गया था| इन्होंने पिता की परंपरागत गुना संसदीय सीट से सन् 2002 में चुनाव लड़ा और शानदार तरीके से जीते भी| इन्होंने लोकसभा चुनाव से इसी सीट से सन् 2004 में चुनाव लड़ा और वापस सांसद बने| सन् 2007 में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यूपीए सरकार से केंद्रीय राज्य मंत्री का पदभार संभालने लगे| इन्होंने मनमोहन जी की सरकार में भी केंद्रीय राज्य मंत्री का स्वतंत्र

भार सम्भाला था| ज्योतिरादित्य सिंधिया अभी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं| सन् 2014 में इन्होंने मोदी की सरकार होने के बावजूद गुना में अपनी सरकार बनाई रखी|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल ज्योतिरादित्य सिंधिया का जीवन परिचय| Jyotiraditya Scindia Biography ( Jivni ) in Hindi. कैसा लगा? आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana Singh

यह भी पढ़े- यह भी पढ़े- जीवन परिचय, जीवनी|

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram