महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय| Mahendra Singh Dhoni Biography (Jivni) in Hindi.

महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय| Mahendra Singh Dhoni Biography (Jivni) in Hindi.

भारतीय खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी|
Biography of Indian player Mahendra Singh Dhoni in Hindi.


महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय| Mahendra Singh Dhoni Biography (Jivni) in Hindi.
महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय| Mahendra Singh Dhoni Biography (Jivni) in Hindi.

“ मैं जानता था कि

    अगर मैं फेल हो जाता हूँ

           तो मुझे अफ़सोस नहीं होगा,

                   लेकिन एक चीज जिसका

                            अफ़सोस हो सकता हैं,वो हैं प्रयास ना करना ”

-Mahendra Singh Dhoni
महेंद्र सिंह धोनी

महेंद्र सिंह धोनी(Mahendra Singh Dhoni) का नाम दुनिया भर के मशहूर और महान क्रिकेटरों में गिना जाता हैं| यह MS Dhoni के नाम से दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं|

एक छोटे से शहर से निकलकर एक महान क्रिकेटर बनने के लिए इस खिलाड़ी ने बहुत संघर्ष किया| अपने संघर्ष और परिश्रम से इस खिलाडी ने देश भर में अपनी पहचान बनाई| धोनी ने अपने क्रिकेट खेलने की शुरुआत स्कूली दिनों से ही कर दी थी|

यह भी पढ़े- ऋषभ पंत का जीवन परिचय|

लेकिन इंडियन टीम का हिस्सा बनने में इन्हें कई साल लग गए| परन्तु जैसे ही धोनी को इंडियन टीम से खेलने का मौक़ा मिला तो इन्होंने इस मौके को बखूबी बनाया और अपनी प्रतिभा से इंडियन टीम का हिस्सा बन गए|


महेंद्र सिंह धोनी सफल कप्तान के रूप में|
Mahendra Singh Dhoni as a successful captain in Hindi.


महेंद्र सिंह धोनी(Mahendra Singh Dhoni) भारतीय क्रिकेटर और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान हैं| यह भारत के एक दिवसीय अंतराष्ट्रीय के सबसे सफल कप्तान हैं|

शुरुआत में यह एक असाधारण उज्जवल और आक्रामक बल्लेबाज के रूप में जाने जाते थे| इनकी कप्तानी में भारत ने कई ट्रॉफी जीती



  1. 2007 आईसीसी विश्व 20-20
  2. 2007-2008 कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज
  3. 2011 क्रिकेट विश्व कप
  4. आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी 2013

और बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी भी जीती जिसमे भारत ने ऑस्ट्रेलिया की टीम को 4-0 से हराया| उन्होंने भारतीय टीम को श्रीलंका और न्यूजीलैंड में पहली अतिरिक्त वनडे सीरिज हराई| 2 सितम्बर, 2014 को इन्होंने भारत को 24 साल बाद इंग्लैंड में वनडे सीरीज जिताई|


महेंद्र सिंह धोनी को मिलने वाले सम्मान|
Mahendra Singh Dhoni’s honors in Hindi.


महेंद्र सिंह धोनी(Mahendra Singh Dhoni) ने कई सम्मान भी प्राप्त किये हैं जैसे-



  1. 2008 में आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ़ द ईयर अवार्ड| इस अवार्ड के मिलने से वह पहले भारतीय हुए जिसे यह अवार्ड मिला हो|
  2. राजीव गाँधी खेल रत्न पुरुष्कार
  3. 2009 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान
  4. पद्मश्री पुरुष्कार
  5. 2009 में विस्डन के सर्वप्रथम ड्रीम टेस्ट ग्यारह टीम में धोनी को कप्तानी का दर्जा दिया गया|
यह भी पढ़े- Coming Soon

उनकी कप्तानी में भारत ने 28 साल बाद एक दिवसीय क्रिकेट विश्व कप में दुबारा जीत हासिल की| सन् 2013 में इनकी कप्तानी में भारत ने पहली बार आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी का खिताब जीता|

धोनी विश्व के पहले ऐसे कप्तान हैं जिसके पास आईसीसी के सारे कप हैं| साल 2014 में इन्होंने टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी छोड़ दी|

इनके इस फैसले से सभी चौंक गए थे| एमएस धोनी ऐसे चौथे भारतीय और दूसरे विकेट कीपर हैं जिसने ओ डी आई(ODI) में 10,000 रन बनाएँ हो| यह कीर्तिमान उन्होंने 14 जुलाई, 2018 को अपने नाम किया था|

धोनी ने लगातार दूसरी बार क्रिकेट विश्व कप में 2014 में भारत का नेतृत्व किया और पहली बार भारत ने ग्रुप के सारे मैच जीते और साथ ही इन्होंने साल 2011 विश्व कप में मैच जीतकर नया रिकॉर्ड भी बनाया|



यह भारत के पहले ऐसे कप्तान हैं| जिन्होंने भारत को 100 वनडे मैच जिताए हो| वह ऐसा कहते हैं कि अब में कुछ ऐसा करूँगा जो किसी ने नहीं करा होगा|

यह भी पढ़े- Coming Soon

उन्होंने कहा कि मैं टीम को दो हिस्से में बाटूँगा, जो खिलाड़ी अच्छा नहीं खेलेंगे वो उसे दूसरी टीम में डाल देंगे और जो खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करेगा वो उसे अपनी टीम में रख लेंगे और इसमें कुछ नए खिलाड़ी भी शामिल हो सकते हैं|

भारत के इस महान बल्लेबाज और कप्तान ने अपनी कप्तानी 4 जनवरी,2017 को भारतीय एक दिवसीय अंतराष्ट्रीय और 20-20 अंतराष्ट्रीय टीम से अपनी कप्तानी छोड़ दी और कप्तानी करने की जिम्मेदारी विराट कोहली को सौंप दी|


महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय|
Mahendra Singh Dhoni’s life introduction in Hindi.


पूरा नाम (Full Name) महेंद्र सिंह धोनी
निकनेम(Nick Name) माही,एमएस,कैप्टेन कूल
जन्म तिथि(Date Of Birth) 7 जुलाई,1981
जन्म स्थान(Birth’s place) राँची, बिहार, भारत
स्कूली शिक्षा(School Education) राँची से
माताजी का नाम(Mother’s Name) श्रीमती देवकी देवी
पिताजी का नाम(Father’s Name) श्री पान सिंह
कूल भाई-बहन(Total Sister and Brother) दो(एक भाई और एक बहन)
भाई का नाम(Brother’s Name) नरेंद्र सिंह
बहन का नाम(Sister’s Name) जयंती गुप्ता
पत्नी का नाम(Wife’s Name) साक्षी सिंह रावत
कूल बच्चे(Total Child) कूल बच्चे(Total Child)
भारतीय क्रिकेट टीम में इनकी भूमिका विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी
पेशा(Occupation) क्रिकेटर और भारत के पूर्व कप्तान
बल्लेबाजी की शैली(Style Of Batting) दाहिने हाथ से
गेंदबाजी की शैली(Bowling Style) दाहिने हाथ के मध्यम गेंदबाज
IPL की टीम(Team Of IPL) चेन्नई सुपर किंग्स
लम्बाई(Height) 5 फीट,9 इंच
बालों का रंग(Hair Color) काला और सफ़ेद
वजन(Weight) 70 किलो
कुल  सम्पत्ति(Total Property) लगभग 70 करोड़
आँखों का रंग(Eye’s Color) हल्का भूरा

महेंद्र सिंह धोनी का जन्म और शिक्षा|
Birth and education of Mahendra Singh Dhoni in Hindi.


साल 1981 में भारत के झारखण्ड के धोनी ने इसी राज्य के डीएवी जवाहर विद्या मंदिर स्कूल से अपनी शुरूआती शिक्षा प्राप्त की|

इन्होने अपनी बारवीं कक्षा की परीक्षा पूरी के बाद सेंट जेवियर कॉलेज में दाखिला लिया था| लेकिन क्रिकेट में रुचि होने के कारण धोनी को अपनी पढाई से समझौता करना पड़ा| इस कारण इन्हे अपनी पढाई छोड़नी पड़ी|




महेंद्र सिंह धोनी का परिवार|
Mahendra Singh Dhoni’s family in Hindi.


  1. धोनी के परिवार में इनके माता और पिताजी के अलावा उनकी पत्नी और एक बेटी, एक भाई और एक बहन हैं| इनकी बड़ी बहन  एक अध्यापिका और भाई एक राजनेता हैं|
  2. धोनी के पिता पान सिंह मेकॉन(MECON) कम्पनी के काम किया करते थे और इनकी माताजी का नाम देवकी देवी हैं| इनका परिवार का नाता उत्तराखंड राज्य से हैं लेकिन इन के पिता कार्य के चलते झारखण्ड राज्य आकर रहने लगे थे| जिसके बाद से यह यही के निवासी हो गए|

महेंद्र सिंह धोनी की लव स्टोरी|
Mahendra Singh Dhoni’s Love Story in Hindi.


महेंद्र सिंह धोनी और प्रियंका झा की लव स्टोरी|
Mahendra Singh Dhoni and Priyanka Jha’s love story in Hindi.

महेंद्र सिंह धोनी की ज़िन्दगी में एक प्रियंका नामक लड़की हुआ  करती थी| जोकि इनकी बहुत ही प्यारी गर्लफ्रेंड थी| इन दोनों की पहली मुलाकात हवाईजहाज के एक सफर में हुई थी|

परन्तु इनकी यह लव स्टोरी ज्यादा समय तक नहीं रह पाई क्योंकि साल 2002 में दुर्घटना के कारण प्रियंका की मौत हो गयी और यह लव स्टोरी पूरी नहीं हो पायी|

धोनी के इन बीतें हुए लम्हों के बारे में लोगों को उनके ऊपर बनी हुई फिल्म के द्वारा पता चला| उस फिल्म का नाम हैं MS Dhoni (The Untold Story)

Ad-

यह भी पढ़े- रोहित शर्मा का जीवन परिचय|

साक्षी और महेंद्र सिंह धोनी की लव स्टोरी|
Sakshi and Mahendra Singh Dhoni’s love story in Hindi.

महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2010 में 4 जुलाई को साक्षी से विवाह किया| यह एक लव मैरिज थी| लोग कहते हैं कि यह दोनों एक ही स्कूल में पढा करते थे| लेकिन जब साक्षी छोटी सी थी जब उनके देहरादून शिफ्ट हो गए थे| जिसके कारण साक्षी अपना स्कूल बीच मे ही छोड़ना पढ़ा|

साल 2007 में फिर साक्षी से हुई मुलाक़ात



साक्षी के देहरादून शिफ्ट होने के बाद, धोनी और साक्षी लम्बे समय तक एक-दूसरे से नहीं मिले| लेकिन साल 2007 में इनकी फिर से एक बार आपस में मुलाक़ात हुई और यह  मुलाकात कोलकाता में हुई थी|

दरअसल टीम इंडिया कोलकाता के जिस होटल में रुके हुए थे,उसी होटल में साक्षी एक इंटर्न कार्य कर रही थी और इसी दौरान कई दिनों बाद इनकी आपस में इस प्रकार मुलाकात हुई|

इस मुलाक़ात के बाद वे कई दिनों तक एक दूसरे से मिलते रहे और लगभग तीन साल के बाद दोनों ने एक-दूसरे से शादी कर ली| इन दोनों की एक बेटी भी हुई, जिसका नाम जीवा हैं|


महेंद्र सिंह धोनी का घरेलू क्रिकेट करियर|
Mahendra Singh Dhoni’s domestic cricket career in Hindi.


महेंद्र सिंह धोनी को 1999 में अपना पहला रणजी मैच खेलने को मिला और यह पहला मैच इन्होंने बिहार राज्य की तरफ से खेलते हुए असम की टीम के खिलाफ खेला|महेंद्र सिंह धोनी ने इस मैच के दूसरे पारी में 68 रन बनाए थे|

जबकि ट्रॉफी के इस सत्र में इन्होंने 5  मैचों में 283 रन बनाए| परन्तु महेंद्र सिंह धोनी के इस लाजवाब प्रदर्शन के बाद भी ईस्ट जोन सिलेक्टर्स ने इनका चयन नहीं किया|

जिसके कारण धोनी ने कुछ समय तक खेल से दूरी बना ली और साल 2001 में कोलकाता राज्य में रेलवे विभाग में बतौर टिकट कलेक्टर के रूप में काम करने लगे|

यह भी पढ़े- Coming Soon

लेकिन धोनी का मन इस कार्य में नहीं लगा और महेंद्र सिंह धोनी ने तीन साल के अंदर ही इस नौकरी को छोड़ दिया|

इसके बाद इन्होंने अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान देना शुरू किया| इसके बाद धोनी का चयन साल 2001 में दिलीप ट्रॉफी में हो गया लेकिन धोनी को अपने चयन की जानकारी बहुत देर में पता हुई|

इस कारण धोनी दिलीप ट्रॉफी में हिस्सा नहीं ले सके| साल 2003 में जमशेदपुर प्रतिभा संसाधन विकास विंग के हुए मैच में खेलते हुए बंगाल के पूर्व कप्तान प्रकाश पोद्दार ने देखा था|

जिसके बाद इन्होंने धोनी के खेल की जानकारी राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी को दी और इस तरह धोनी का चयन बिहार Under-19 टीम में हो गया|

Ad-

महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2003-2004 के देवधर ट्रॉफी के टूर्नामेंट में भी हिस्सा लिया था और धोनी पूर्वी जोन टीम का हिस्सा था| देवधर ट्रॉफी का यह सीजन इनकी टीम ने ही जीता| महेंद्र सिंह धोनी ने इस सीजन में कुल 4 मैच खेले थे जिनमें इन्होंने 244 रन बनाए|

साल 2004 में महेंद्र सिंह धोनी का चयन “इंडिया-A” की टीम के लिए कर लिया गया था| India-A टीम की ओर से अपना पहला मैच खेलते हुए, महेंद्र सिंह धोनी ने जिम्बावे के खिलाफ बहुत अच्छा प्रदर्शन दिखाया|

केन्या ए, भारत ए और पाकिस्तान ए इन तीन देशों के बीच चल रही श्रृंखला में भी महेंद्र सिंह धोनी ने बहुत अच्छा प्रदर्शन दिखाया और पाकिस्तान ए टीम की ओर से खेले हुए मैच में अपने अर्धशतक से महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय टीम को जीत दिलाई|




महेंद्र सिंह धोनी का एक दिवसीय करियर|
Mahendra Singh Dhoni’s One Day Career in Hindi.


साल 2004-2005 में भारतीय टीम ने बांग्लादेश का दौरा किया था उस दौरे पर राहुल द्रविड़ को विकेटकीपिंग पर रखा गया जिससे कि बल्लेबाजी में कोई कमी ना आ सके|

भारतीय क्रिकेट में उस समय पार्थिव पटेल और दिनेश कार्तिक जैसे प्रतिभाशाली विकेटकीपर और बल्लेबाज  जो कि जूनियर की शैली में गिने जाते थे|

यह दोनों ही टेस्ट Under-19 के कप्तान रह चुके हैं| हालाँकि महेंद्र सिंह धोनी ने उस समय अपनी पहचान भारत ए टीम में बना ली थी |

जिस कारण इन्हें बांग्लादेश दौरे के लिए टीम इंडिया में चुन लिया गया था| धोनी के एक दिवसीय करियर की शुरुआत कुछ ख़ास नहीं रही|

यह भी पढ़े- विराट कोहली का जीवन परिचय|

वह अपने पहले ही मैच में शून्य पर रन आउट हो गए थे| बांग्लादेश में उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा परन्तु फिर भी उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ वनडे श्रृंखला के चुन लिया गया था|

श्रृंखला के दूसरे और अपने करियर के पाँचवे मैच में उन्होंने 123 गेंदों पर 148 रनों की शानदार पारी खेली| 148 रन बनाकर धोनी ने विकेटकीपर होते हुए एक मैच में सर्वाधिक रन बनाए|

श्रीलंका क्रिकेट टीम के खिलाफ द्विपक्षीय एक दिवसीय श्रृंखला में धोनी को पहले दो मैचों में धोनी को बल्लेबाजी के लिए कुछ ही अवसर मिले और तो उन्होंने तीसरे मैच में तीसरे नंबर पर आने के लिए प्रोत्साहित किया गया था|

साल 2007 का विश्व कप  

वेस्ट इंडीज में पहली बार 2007 में क्रिकेट विश्व कप खेला जा रहा था| साल 2007 के विश्व क्रिकेट में राहुल द्रविड़ को कप्तान चुना गया था|

इस टूर्नामेंट में कुल 16 टीमों ने हिस्सा लिया और इन 16 टीमों को चार भागों में बाँटा गया था| सारी टीमें अपने ग्रुप की 3 टीमों से मैच खेलने वाली थी|

श्रीलंका,भारत और बर्म्युडा यह तीन देश भारत के ग्रुप में थे| महेंद्र सिंह धोनी ने इस टूर्नामेंट में केवल 3 मैचों में 29 रन बनाए| इंडियन टीम साल 2007 में पहली बार इस टूर्नामेंट से बाहर निकल गई|

साल 2011 का विश्व कप  

साल 2011 में भारत ने बांग्लादेश को अपने पहले मैच में हराकर टूर्नामेंट की अच्छी शुरुआत की| धोनी ने अपने ग्रुप स्टेज में नीदरलैंड,आयरलैंड और वेस्ट इंडीज के खिलाफ जीत हासिल की|

भारत ने पाकिस्तान को सेमी फाइनल में हराया| फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ भारत को विश्व कप जीताने में महेंद्र सिंह धोनी ने चेस करते हुए 91 रन की  मैच जीताऊ पारी खेली|

उन्हें इस प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ़ द मैच पुरुष्कार से भी सम्मानित किया गया था|


महेंद्र सिंह धोनी का टेस्ट मैच करियर|
Mahendra Singh Dhoni’s Test match career in Hindi.


साल 2005 में  महेंद्र सिंह धोनी को श्रीलंका के खिलाफ खेली जानी वाली टेस्ट सीरीज के लिए विकेटकीपर के लिए चुना गया| उन्होंने अपने पहले मैच में 30 रन बनाए|

यह मैच पूरा नहीं हुआ था क्योंकि इस मैच के दौरान बारिश आ गयी थी  और मैच को बीच में ही रोकना पड़ गया था| 2006 की शुरुआत में पाकिस्तान के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी ने अपना पहला शतक बनाया और उन्होंने इस पारी से भारत को फॉलो-ऑन ना मिलने की मदद की|

उन्होंने अपने अगले तीन मैचों में शानदार प्रदर्शन किया, जिसमे से महेंद्र सिंह धोनी ने एक मैच पाकिस्तान और दो इंग्लैंड के खिलाफ खेले थे|

Ad-

साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया सीरीज(Series) में  महेंद्र सिंह धोनी को वाईस-कैप्टेन(Vice-Captain) बनने का पहली बार नेतृत्व मिला|

अनिल कुंबले इस सीरीज(Series) के दौरान घायल हो गए थे और इन्होंने अपने रिटायरमेंट की घोषणा कर दी थी| इसी कारण महेंद्र सिंह धोनी को सीरीज के चौथे ही मैच में भारत की कप्तानी करने को मिली|  

महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेली सीरीज में शानदार प्रदर्शन दिखाया और दो शतक लगाए|

इनकी शानदार कप्तानी से दिसंबर 2009 में भारतीय टीम आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में प्रथम स्थान पर आ गयी|

यह भी पढ़े- Coming Soon

साल 2014 में इन्होंने अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेला,यह मैच इन्होंने ऑस्ट्रेलिया टीम के विरुद्ध खेला| इन्होने इस मैच में 35 रन बनाये थे और इस मैच के बाद इन्होने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था|  

महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2017 में ओडीआई में भी कप्तानी से संन्यास ले लिया था| लेकिन वह अभी T-20 और ओडीआई में विकेटकीपर के रूप में खेलते हैं|

महेंद्र सिंह धोनी का पहला T-20 मैच

महेंद्र सिंह धोनी ने अपना पहला T-20 मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था|  महेंद्र सिंह धोनी ने इस मैच में बहुत ही निराशाजनक प्रदर्शन किया| उन्होंने इस मैच में दो गेंदों का  किया और जीरो के स्कोर पर आउट हो गए थे परन्तु फिर भी भारत यह मैच जीता था|


महेंद्र सिंह धोनी का आईपीएल करियर|
Mahendra Singh Dhoni’s IPL career in Hindi.


IPL के पहले सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स ने महेंद्र सिंह धोनी को 10 करोड़ रुपये में खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया|  महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने अब तक IPL के तीन सीजन अपने नाम किये है|

इन्होंने अपनी कप्तानी से चेन्नई सुपर किंग्स को 2010,2012 और 2018 का IPL खिताब जिताया| आपको बता दे कुछ कारणों के वजह से महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स पर दो साल का बैन लग गया था जिस कारण महेंद्र सिंह धोनी को वो दो साल राइजिंग पुणे सुपर जिअंट्स की टीम से खेला था|

इस टीम ने महेंद्र सिंह धोनी को 12 करोड़ में अपनी टीम में शामिल किया था| साल 2018 में यह बैन चेन्नई सुपर किंग्स के ऊपर से ख़त्म हो गया और महेंद्र सिंह धोनी फिर से इस टीम से खेलने लगे|


महेंद्र सिंह धोनी के रिकार्ड्स|
Records of Mahendra Singh Dhoni in Hindi.


  1. आपको बता दे  महेंद्र सिंह धोनी एक ऐसे विकेटकीपर जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 4000 रन बनाए है| इनसे पहले ऐसा किसी भी भारतीय विकेटकीपर ने नहीं किया था|
  2. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने कूल 27 टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है| जिसमें  महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट में सबसे सफल भारतीय टेस्ट कप्तान होने का रिकॉर्ड दर्ज हैं|
  3. इनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने निम्नलिखित वर्ल्ड कप जीते है,जिसके साथ ही यह ऐसे कप्तान बन गए जिसने सभी तरह के ICC Tournament Cup जीते हो|
ICC Tournament किस साल जीता कप
टी-20 वर्ल्ड कप 2007
ऑडीआई 2011
चैंपियन ट्रॉफी 2013

महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में कुल 331 इंटरनेशनल मैच खेले हैं| यह पहले ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा इंटरनेशनल मैच खेले हैं|

इन्होने इंटरनेशनल मैचों में 204 छक्के मारे है| जिसके साथ  महेंद्र सिंह धोनी ने सबसे ज्यादा छक्के मारने वाले कप्तान का भी खिताब जीता|

कप्तान के रूप में सबसे अधिक मैच जीतने का भी खिताब महेंद्र सिंह धोनी  नाम हैं|


महेंद्र सिंह धोनी को मिले कुछ अवार्ड्स|
Mahendra Singh Dhoni’s Awards in Hindi.


  1. महेंद्र सिंह धोनी को साल 2007 में गर्वमेंट ने राजीव गाँधी खेल रत्न से भी सम्मनित किया गया| ये पुरस्कार खेल की दुनिया में दिया जाने वाला सर्वश्रेष्ट पुरस्कार है|
  1. साल 2008 और 2009 में महेंद्र सिंह धोनी को ICC ODI प्लेयर ऑफ़ द ईयर का अवार्ड दिया गया| उन्होंने इसे 2008 से 2014 तक लगातार 7 वर्षो तक ICC विश्व ओडीआई इलेवन टीम भी बनाया|

आपको बता दे कि महेंद्र सिंह धोनी को साल 2009,2010 और 2013 में ICC विश्व टेस्ट टीम इलेवन में भी शामिल किया गया था|

  1. महेंद्र सिंह धोनी को साल 2009 में पद्मश्री अवार्ड और साल 2018 में भी पद्मभूषण से इंडिया की गवेर्मेंट द्वारा सम्मानित किया गया था|
  2. साल 2011 में महेंद्र सिंह धोनी डी मोंटफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ मानद डायरेक्टर की डीग्री भी दी गयी|
  1. महेंद्र सिंह धोनी महान क्रिकेटर कपिल देव के बाद दूसरे ऐसे खिलाडी है ,जिन्हे इंडियन आर्मी पद से भी नवाजा गया हैं|
  2. जून,2015 में फ़ोर्ब्स में धोनी को सबसे ज्यादा महँगे खिलाडियों की लिस्ट  में 23 नंबर पर रखा और इस लिस्ट के अनुसार महेंद्र सिंह धोनी की कमाई 31 मिलियन अमेरिकी डॉलर हुई|
  1. महेंद्र सिंह धोनी को साल 2009 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री  भी नवाजा गया|
  1. महेंद्र सिंह धोनी साल 2012 में दुनिया के सबसे कीमती खिलाडियों में 16 वें नंबर पर थे|
  1. 2011 में  महेंद्र सिंह धोनी को 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों में नाम  रखा गया|
  2. महेंद्र सिंह धोनी को 2 अप्रैल,2018 को देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पद्मभूषण से भी सम्मानित किया गया था|

Friends आपको हमारा यह Article कैसा लगा आप हमें Comment Box के Through Comment करना ना भूले और हमारे इस Article को Like और Share करना बिल्कुल भी ना भूले|

Thank For Reading
Sanjana


यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *