विजय शेखर का जीवन परिचय| Vijey Shekhar Biography Jivni in Hindi.

 

विजय शेखर शर्मा मशहूर पेमेंट ऐप पेटीएम के फाउंडर और सीईओ हैं| इनका जन्म 15 जुलाई, 1978 को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में हुआ था| यह असफलता से कभी घबराए नहीं, बल्कि असफलता को पीछे छोड़ते हुए सफलता की राह पर आगे बढ़ गए| विजय शेखर शर्मा 40 साल की उम्र में ही भारत देश के युवा अरबपति बन गए थे| दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल विजय शेखर शर्मा की जीवनी पर हैं| तो आइए दोस्तों इनका जीवन परिचय पढ़ते हैं और इनके बारे में और जानते हैं-

विजय शेखर शर्मा का जीवन परिचय-

नाम – विजय शेखर शर्मा
पूरा नाम – विजय शेखर सिंह शर्मा
माताजी का नाम – आशा शर्मा
पिताजी का नाम – सुलोम प्रकाश शर्मा
जन्म – 8 जुलाई, 1978
जन्म स्थान – हरदुआगंज, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश
उम्र – 42 वर्ष (साल 2020 में)
गृहनगर – हरदुआगंज, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश
भाई/बहन – एक छोटा भाई और दो बड़ी बहन
भाई का नाम – अजय शेखर शर्मा
राशि – मकर
जाति – ब्राह्मण
नागरिकता – भारतीय
राष्ट्रीयता – भारतीय
धर्म – हिन्दू
भाषा – हिंदी
शौक – पढ़ना, गाना सुनना और बंजी जंपिंग करना
शैक्षणिक योग्यता – बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी या
इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन
वैवाहिक स्थिति – विवाहित
पत्नी का नाम – मृदुल शर्मा
बेटा का नाम – विवान शर्मा

विजय शेखर शर्मा का लुक- विजय शेखर शर्मा एक भारतीय उद्यमी है, जिन्होंने पेटीऍम को बाज़ार में उतारा हैं| आइए दोस्तों विजय शेखर शर्मा के लुक और नेट वर्थ के बारे में जानते हैं-

कद – 5 फुट, 7 इंच लगभग
वजन – 85 किलोग्राम लगभग
आँखों का रंग – काला
बालों का रंग – काला
नेट वर्थ – 2.1 बिलियन डॉलर (लगभग)

विजय शेखर शर्मा का जन्म और शुरुआती शिक्षा-

विजय शेखर शर्मा का जन्म 15 जुलाई, 1978 को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में हुआ था| इनके पिताजी का नाम स्वर्गीय सुलोम प्रकाश शर्मा हैं, जो कि एक स्कूल टीचर थे और इनकी माताजी एक गृहिणी थी, जिनका नाम आशा शर्मा था| इन्होंने मात्र 15 साल की उम्र में दिल्ली स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग में पढाई शुरू कर दी थी| उत्तर प्रदेश बोर्ड हिन्दी माध्यम से पढ़े विजय को अंग्रेजी से पढाई में बड़ी दिक्कत आई| उन्होंने खाली समय में अंग्रेजी के अखबार, मैगजीन, किताबें पढ़कर अपनी अंग्रेजी सुधारी| अंग्रेजी तो कुछ ठीक हुई पर बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी या इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में खराब आ रहे ग्रेड की वजह से विजय का आत्मविश्वास कमजोर पड़ने लगा| अब उनका पढ़ाई में मन नहीं लग रहा था|

विजय शेखर शर्मा का बिजनेस-
विजय ने इस खाली समय का उपयोग सॉफ्टवेयर कोडिंग सीखने में लगा दिया|

विजय का बिजनेस सफर कॉलेज के दिनों में ही शुरू हुआ, जब उन्होंने मित्रों के साथ मिलकर एक कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम इंडिया साइट बनाया जिसमे इन्वेस्टर्स ने पैसा लगाया था| दो साल बाद इसको बेचने से मिले 1 मिलियन डॉलर से विजय ने One97 कम्युनिकेशन लिमिटेड नाम की मोबाइल वैल्यू एडेड सर्विस देने वाली कंपनी खोली|

One97 कम्युनिकेशन लिमिटेड मोबाइल के लिए तरह तरह के कंटेंट जैसे एग्जाम रिजल्ट्स, रिंगटोन्स, समाचार, क्रिकेट स्कोर, जोक्स प्रदान करती है|

अमेरिका की 9/11 त्रासदी का असर मार्केट पर इस कदर पड़ा कि रातोंरात कितने ही बिजनेस तबाह हुए और One97 कम्युनिकेशन लिमिटेड भी इसका शिकार हुआ| पेटीएम की ग्राहक हच और एयरटेल जैसी बड़ी कम्पनियां समय पर भुगतान नहीं कर पा रही थीं| अपने स्टाफ, कर्मचारियों को सैलरी विजय ने दोस्तों, रिश्तेदारों से 24% की सालाना ब्याज दर पर पैसा लोन लेकर दिया|

रातों-रात उनका पेटीएम ऐप कैसे मशहूर हुआ-
विजय ने गौर किया कि स्मार्टफोन का उपयोग बड़ी तेजी से बढ़ा है, तो क्यों न इससे जुड़ा कुछ ऐसा किया जाये, जिससे लोगों की समस्याओ का समाधान हो| विजय ने One97 कम्युनिकेशन लिमिटेड के ही अंतर्गत पेटीएम.कॉम नाम की वेबसाइट खोली और ऑनलाइन मोबाइल रिचार्ज सुविधा शुरू की|

पेटीएम का बिजनेस बढ़ा तो विजय ने पेटीएम.कॉम में ऑनलाइन वॉलेट, मोबाइल रिचार्ज, बिल पेमेंट, मनी ट्रान्सफर और शौपिंग फीचर भी जोड़ दिए| विजय को उनके प्रयासों और संघर्ष का फल मिला और आज पेटीएम भारत का सबसे बड़ा मोबाइल पेमेंट और ई-कॉमर्स प्लेटफार्म बन चुका है|

विजय शेखर शर्मा को किन किन पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है-

1. 50 प्रभावशाली युवा भारतीयों में विजय शेखर शर्मा को साल 2017 में जीक्यू इंडिया ने शामिल किया|

2. विजय शेखर शर्मा को एमिटी यूनिवर्सिटी गुड़गांव की तरफ से साल 2016 में ऑनोरिस कौसा डॉक्टर ऑफ साइंसेज (डीएससी) डिग्री से सम्मानित किया गया|

3. विजय शेखर शर्मा को साल 2015 में SABER अवार्ड्स द्वारा “सीईओ ऑफ द ईयर” चुना गया था|

4. इंडिया टुडे पत्रिका ने इन्हें साल 2017 में भारत के 50 प्रतिभाशाली युवाओं में 18 वाँ स्थान दिया|