मोबाइल, नोट पर कब तक जिंदा रहता हैं कोरोना? How Long Does the Corona Stay on Mobile, Note in Hindi?

कोविड 19 के बारे में हर दिन के साथ कोई ना कोई नई जानकारी सामने आती रहती हैं| अब शोधकर्ताओं का कहना हैं कि कोविड 19 की बीमारी के लिए जिम्मेदार कोरोना वायरस फोन की स्क्रीन और स्टेनलेस स्टील जैसी सतह पर 28 दिनों तक जीवित रह सकता हैं|

ऑस्ट्रेलिया की नेशनल साइंस एजेंसी का कहना हैं कि साॅस कोविड 2 वायरस कुछ सतह पर उससे अधिक समय तक जीवित रह सकता हैं, जितना उसके बारे में सोचा गया था|

हालांकि की यह शोध अंधेरे में और स्पिर तापमान में किया गया था| जबकि हाल ही में पता चला हैं कि अल्ट्रा वॉयलेट लाइट के इस्तेमाल से कोरोना वायरस नष्ट हो जाता हैं|

कुछ जानकर इस बात को अभी भी नहीं मानते कि सतह के वायरस से इंसान को कितना खतरा हैं| अधिकतर मामलों में कोरोना वायरस लोगों के छींकने , खांसने और बात करते समय निकले थूक के बारीक कणों से होता हैं|

इससे पहले लेबोरेट्री में हुए टेस्ट से पता चला था कि बैंक नोट और कांच पर कोरोना वायरस 2 या 3 दिनों तक जीवित रह सकता हैं|

जबकि प्लास्टिक और स्टेनलेस स्टील की सतह पर यह 6 दिनों तक जीवित रह सकता हैं| लेकिन ऑस्ट्रेलिया एजेंसी CSIRO का कहना हैं कि यह वायरस बहुत अधिक मजबूत हैं|

यह 20 डिग्री सेल्सियस तापमान और अंधेरे में मोबाइल फोन के कांच, बैंक नोट और प्लास्टिक जैसी चिकनी सतह पर 28 दिनों तक जीवित रह सकता हैं|

कोरोना वायरस की तुलना में फ्लू का वायरस 17 दिनों तक जीवित रह सकता हैं| एक रिपोर्ट में कहा गया हैं कि ठंडे तापमान की तुलना में गर्म तापमान में यह वायरस कम समय तक जीवित रह सकता हैं|

40 डिग्री सेल्सियस पर रखने पर यह वायरस जीवित नहीं रहता हैं| चिकनी और खुदरा सतह पर यह वायरस अधिक समय तक रह सकता हैं| जबकि कपड़े जैसी खुदरी सतह पर यह 14 दिनों तक जीवित नहीं रह सकता|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *