कोराना वायरस क्या हैं? What is Novel Coronavirus ( nCoV ) in Hindi?

कोराना वायरस क्या हैं? What is Novel Coronavirus ( nCoV ) in Hindi?

कोराना वायरस क्या हैं?
What is Novel Coronavirus ( nCoV ) in Hindi


आज-कल देश विदेश में कुछ ना कुछ ऐसी घटनाएँ हो रही है, जिससे सभी देशों को बहुत नुकसान हो रहा है| ऐसी ही एक सबसे चर्चित खबर है कोराना वायरस जो कि चीन देश में सबसे पहले हुई| कहा जाता है कि यह वायरस चीन देश में ही पैदा हुआ है| इस वायरस संक्रमण से चाइना में बहुत सारे लोगों की मृत्यु हुई है और हो रही है| तो आइए दोस्तों आज के इस Topic कोराना वायरस के बारे में जानते हैं और इसके संक्रमण से बचने की कोशिश करते हैं-

कोराना वायरस क्या हैं?

 एक ऐसा वायरस जिसके बारे में हाल ही में बहुत चर्चा हो रही है कोराना वायरस| इसके संक्रमण से व्यक्ति को साँस लेने जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| विश्व स्वास्थ्य संगठन ( World Health Organisation) के तहत अगर कोई पीड़ित खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियों का रोगी हैं तो उस व्यक्ति को यह समझो की वह कोराना वायरस का शिकार हो चुका है| चीन इस देश का मुख्य शिकार हो चुका है और उसके अलावा तक़रीबन 21 देशों में इस बिमारी के फैलने के बारे में ऐसे मामले हुए है| परन्तु इस वायरस का इतना खतरनाक प्रभाव इस संसार में हुआ है कि इसका अभी तक कोई भी तोड़ नहीं निकाल पाया है|

कोराना वायरस कैसे पैदा हुआ?

बहुत लोगों और विशेषज्ञों का य़ह कहना है कि चीन की एक बहुत बड़ी आबादी जानवरों के पास रहती है| इसलिए उन लोगों का य़ह कहना है कि य़ह वायरस जानवरों से पैदा हुआ और इंसानों तक पहुंचा है और कुछ लोगों का य़ह कहना य़ह है कि य़ह वायरस साँपों से इंसान को हुआ है| कहा जाता है कि चीन से कुछ वर्षो पहले सार्स नामक एक वायरस पैदा हुआ था| जो कि चमगादड़ और बिल्ली से हुआ था|

कोराना वायरस के संक्रमण के बाद क्या स्वास्थ्य पहले जैसा हो सकता है?

यह चीज़ हर व्यक्ति में निश्चित रूप से देखी गयी है कि कोराना वायरस से संक्रमित लोगों मे बहुत कम लक्षण दिखाई देते हैं| लोगों द्वारा यह देखा गया हैं कि यह वायरस डायबीटीज के रोगियों और बूढ़े लोगों के लिए बहुत खतरनाक है|

कोराना वायरस से बचने के उपाय-

स्वास्थ्य मंत्रालय और कुछ बड़े वैज्ञानिकों ने इस वायरस से बचने के लिए कुछ उपाय निकालें है| जिनके  प्रयोग से व्यक्ति इस वायरस का शिकार होने से बच सकते हैं|

  1. हमे खांसते समय मुँह और नाक पर टिशू पेपर या रुमाल रख कर छींकना चाहिए|
  2. अंडे और मांस का सेवन से भी य़ह वायरस इंसान  को होता है|
  3. जंगली जानवरों के संपर्क से दूर रहना चाहिए|
  4. जो व्यक्ति कोल्ड और फ्लू के रोगी हैं उनसे दूर रहना चाहिए क्योंकि इनसे भी कोराना वायरस का प्रभाव पड़ता है|

क्या है कोराना वायरस के होने के लक्षण-

1.कोराना वायरस सबसे पहले चीन देश में दिसम्बर के महीने में पैदा हुई थी|

2.नाक बहना, बुखार, झुकाम, खांसी, गले में खराश और साँस लेने में दिक्कत जैसी परेशानी हो तो य़ह समझ लो कि उस व्यक्ति को य़ह बीमारी हो रही है|

3.य़ह वायरस सबसे ज़्यादा खांसी और जुकाम के द्वारा फैल रहा हैं| इसलिए हमें दूसरों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल कोराना वायरस क्या हैं? What is Novel Coronavirus ( nCoV ) in Hindi? कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

  Thanks For Reading
Sanjana

यह भी पढ़े –

Coming Soon

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –