विश्व (अन्तर्राष्ट्रीय ) मृदा दिवस| World ( International ) Soil Day in Hindi.


World / International Soil Day 5 December in Hindi
विश्व / अन्तर्राष्ट्रीय मृदा दिवस, 5 दिसम्बर


यह दिवस एक अन्तर्राष्ट्रीय दिवस है और इसे संसार के कई देशों ने मिलकर इस दिवस को मनाने की मान्यता दी| विश्व मृदा दिवस सन् 2013 से 5 दिसम्बर को मनाये जाने की आज्ञा मिली थी| 

इस दिवस को इस लिए मनाया जाता है क्योंकि यह हमारी मिट्टी है और हमें इसे बेकार या बंजर नहीं करनी चाहिए|यह दिवस संसार भार में 5 दिसम्बर को मनाया जाता है| इस दिन के द्वारा लोगों को मिट्टी ना दूषित करने के लिए जागरूक किया जाता है और इसे अधिक से अधिक उपजाऊ बनाने की कोशिश करने के लिए कहा जाता है|

विश्व मृदा दिवस क्या हैं-
What is World Soil Day?

यह दिवस एक ऐसा दिवस हैं जिसे सभी को याद रखना चाहिए| इस दिन विश्व भर की सरकारों ने मिलकर देश की मिट्टी का किसी भी तरह से ना दुरूपयोग हो पाए, इसके लिए जनता को जागरूक करते हुए देश भर की सरकारों ने इस दिन को विश्व मृदा दिवस (World Soil Day) के रूप में घोषित किया|

विश्व / अन्तर्राष्ट्रीय मृदा दिवस क्यों मनाया जाता हैं?
Why is World / International Soil Day celebrated?

विश्व मृदा दिवस का अहम उद्देश्य यह है कि विश्व भर में किसानों या देश के लोगों को मिट्टी के महत्त्व के बारे में बताना और उसके लिए उन्हें  जागरूक करना| विश्व भर में उपजाऊ मिट्टी कुछ प्रयोगों के कारण बंजर होती जा रही है| 

जैसे किसान रासायनिक खाद और कीड़े मार दवाईयों का उपयोग कर मिट्टी की सारी उपजाऊ क्षमता कर देते हैं| इसलिए विश्व भर में इस दिवस के द्वारा लोगों को मिट्टी या मृदा का दुरूपयोग ना करने के लिए यह कदम उठाया गया और उन्हें इसके लिए जागरूक किया गया|

विश्व / अन्तर्राष्ट्रीय मृदा दिवस कब मनाया जाता हैं ?
When is World / International Soil Day celebrated?

विश्व मृदा दिवस प्रत्येक वर्ष 5 दिसम्बर को मनाया जाता है| इस दिवस को पूरे विश्व भर मिट्टी के महत्त्व को बताते हुए इसके बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जाता है| 

यह दिवस को मनाने की सहमती अंतराष्ट्रीय सरकार द्वारा 20 दिसम्बर से, सन् 2013 को मिली| और तब से यह दिवस विश्व मृदा दिवस के रूप में पूरे विश्व भर में मनाया जाता हैं|

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना-
Soil Health Card Scheme- पढ़े 

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र सिंह मोदी ने भारत में मिट्टी के कटाव के वजह से साल 2014 में एक योजना का आरंभ किया था| जिसका नाम मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के नाम पूरे भारत में जाना गया| 

इसके लिए भारत सरकार के कृषि मंत्री और सहकारिता मंत्रालय ने लगभग 14 करोड़ मृदा स्वास्थ्य कार्ड जारी किए थे| जिससे इसमे कुछ सुधार हो सके और ऐसा ही कुछ हुआ| इससे भारत देश में मिट्टी के कटाव पर बहुत सुधार हुआ|  

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल विश्व / अन्तर्राष्ट्रीय मृदा दिवस| World / International Soil Day in Hindi. कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana

यह भी पढ़े –

 

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram