जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे, वैसा ही आपको मिलेगा| Best Control Motivational Story in Hindi.

जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे,वह भी आपके लिए वैसा ही सोचेगा| Best Control Motivational Story in Hindi.

आप जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे,वह भी आपके लिए वैसा ही सोचेगा|
Best Control Motivational Story in Hindi.


जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे,वह भी आपके लिए वैसा ही सोचेगा| Best Control Motivational Story in Hindi.
जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे,वह भी आपके लिए वैसा ही सोचेगा|Motivational Story in Hindi.

दोस्तों किसी ने कहा है कि अगर आप लोगों पर Control कर सकते हैं| तो आप सबसे Powerful हैं और अगर आप अपने आप पर Control कर सकते हैं तो आप से महान इस दुनिया में कोई नहीं हैं|

क्योंकि दोस्तों अपने आप पर Control करना बहुत कठिन होता हैं| और जो अपने आप Control कर पाते हैं, जीवन में आगे चलकर उन्हीं व्यक्तियों को कोई परेशानी नहीं होती हैं और वह अपने मकसद में सफल हो पाते हैं|

तो आइए आज हम एक ऐसी Motivational/Inspirational Story को पढ़ते हैं, जिससे हमें अपने आप पर Control करने की सीख मिले|

“ अच्छे कर्म करते रहो,

चाहे कोई सम्मान करे या ना करे,

क्योंकि….

सूर्य जब उदय होता हैं,

जब करोड़ों लोग नींद में होते हैं,

लेकिन फिर भी सूर्योदय होता हैं ”

एक बार की बात है-गौतम बुद्ध से उनके एक शिष्य ने पूछा कि गुरूजी बताइए कर्म क्या हैं? गौतम बुद्ध ने  अपने शिष्य से कहा कि आओ यह सब में तुम्हें एक कहानी के द्वारा बताता हूँ|

एक बार एक राजा हाथी पर बैठकर अपने राज्य का भ्रमण कर रहा था और घूमते-घूमते वह एक दुकान के पास आ गया और दुकान के पास रूक कर उस राजा ने अपने मंत्री से कहा कि मंत्री जी पता नहीं क्यों लेकिन मुझे ऐसा लग रहा हैं|

कि इस दुकानदार को कल फाँसी पर लटका दिया जाए| मंत्री इससे पहले इसकी वजह पूछता कि राजा को ऐसा क्यों लगा, राजा आगे बढ़ गए|

 
यह भी पढ़े-प्यार और जिन्दगी का महत्व| Love Life And Break Up Motivational Story in Hindi.

अब मंत्री से रहा नहीं गया और वह अगले दिन एक आम-आदमी के रूप में उस आदमी दुकानदार के पास गया और देखता हैं की दुकानदार चंदन की लकड़ी बेचने और पीसने का काम करता हैं पूछता है कि ओर भाई काम-धंधा कैसा चल रहा हैं|

यह सुनकर दुकानदार कहता हैं कि क्या बताऊँ, बहुत बुरा हाल हैं| लोग आते चंदन को सूँघते हैं और उसकी  प्रशंसा करते हैं की वाह-वाह बहुत अच्छा हैं| लेकिन इसे खरीदते नहीं हैं|

मैं सिर्फ इस इंतजार में बैठा हूँ कि हमारे राज्य के राजा की मृत्यु हो और उनकी अन्थेसटी में जो चंदन की लकड़ी जायेंगी और उस समय बहुत सारी चंदन की लकड़ी खरीदी जायेंगी|

क्या पता वहाँ से मेरे दिन बदल जाए| मंत्री को यह सारा खेल समझ आ गया और वह सोचने लगे यह जो खेल हैं नकारात्मक सोच का है|

इसलिए जब राजा जी जब यहाँ से गुजरे तो उनके दिमाग में दुकानदार के लिए बुरा ही आए| मंत्री तो शुरू से बुद्धिमान था ही उसने एक उपाय सोचा|

उसने दुकानदार से कहा कि मैं थोड़ी सी चंदन की लकड़ी खरीदना चाहता हूँ| यह सुनकर दुकानदार भी खुश हो गया चलो कोई तो ग्राहक आया| उसने मंत्री को अच्छे से कागज में लपेटकर चंदन की लकड़ी को दे दिया| उस दुकानदार को यह पता नहीं था कि यह आदमी मंत्री हैं|

अगले दिन मंत्री दरबार में राजा के पास गया और कहने लगा कि मंत्री साहब वह जो दुकानदार था उसने आपके लिए एक तोहफा भेजा है|


यह भी पढ़े-समाज सेवा की एक अनसुनी कहानी | Ashima Success Story in Hindi.

राजा जी खुश हो गए और कहने लगे कि अरे! मैं तो फ़ालतू में उसे फाँसी की सजा सुनाने के बारे में सोच रहा था| राजा ने देखा कि उस दुकानदार ने क्या भेजा हैं|

राजा ने देखा की उसमे चंदन की लकड़ियाँ हैं और उन चंदन की लकड़ियों से बहुत खुशबू आ रही थी| राजा जी बहुत खुश हुए और उस दुकानदार को राजा ने सोने के सिक्के भिजवाएँ|

अगले दिन मंत्री फिर से उस आम- आदमी के रूप में सिक्के  लेकर उस दुकानदार के पास गए और उसे दे दिए|

यह देखकर दुकानदार कहने लगा कि अरे! मैं फालतू में सोच रहा था की वह राजा मर जाए और मेरी चंदन की लकड़ी खरीदी जाएगी| राजा जी तो बहुत दयालु और अच्छे इंसान है|

यह छोटी सी कहानी जब ख़त्म हुई तो गौतम बुद्ध ने अपने शिष्यों से पूछा बताओं कर्म क्या हैं?

शिष्यों ने कहाँ कि शब्द जो है, वो हमारे कर्म है,हम जो काम कर रहे वो हमारे कर्म हैं,हमारी जो भावनाएँ है वो कर्म हैं| फिर गौतम बुद्ध ने कहा कि आपके विचार ही आपके कर्म हैं|

अगर आपने अपने विचारों को नियंत्रित करना सीख लिया तो आप महान हैं| इसलिए ज़िंदगी आपसे यह कहती है कि अच्छा सोचिए तो अच्छा होगा|

 

Friends आपको हमारा यह Motivational Article कैसा लगा, आप हमें Comment करके बताना ना भूले और हमारे इस  Motivational Article को Like और Share करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

 

One thought on “जैसा दूसरे के लिए सोचेंगे, वैसा ही आपको मिलेगा| Best Control Motivational Story in Hindi.”

  1. इंसानी सोच को लेकर आपने बहुत अच्छा लिखा है. अगर हम चाहते है की दुसरे हमारे लिए अच्छा सोचे तो हमें उनके लिए अच्छा सोचना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *