जो होता हैं अच्छे के लिए ही होता हैं| Best Akbar Birbal Inspirational story.

जो होता हैं अच्छे के लिए ही होता हैं Best Akbar Birbal Inspirational story

अकबर बीरबल प्रेरणादायक कहानी
Akbar Birbal Inspirational story


जो होता हैं अच्छे के लिए ही होता हैं Best Akbar Birbal Inspirational story
Akbar Birbal Inspirational Story

मैं सिर्फ Good Luck को मानता हूँ,

Bad Luck नाम की इस दुनिया में

कोई चीज नहीं,

जो होता हैं अच्छे के लिए होता हैं|



दोस्तों अकबर और बीरबल की आपने कई कहानियाँ सुनी होगी, उन्ही की एक कहानी हम इस Article के द्वारा आपको बताएँगे, तो दोस्तों चलो इस कहानी को पढ़ते है|   

एक बार अकबर अपने दरबार में अपने सिंघासन पर बैठे हुए थे| उनकी पत्नी भी उनके साथ वही पर थी| उनकी पत्नी को बहुत दिनों से सेब खाने का मन कर रहा था तो राजा अकबर ने अपनी पत्नी के लिए एक सेब मँगाया और कहा कि यह सेब में खुद अपनी पत्नी के लिए काटूँगा|

क्योंकि वह कभी ऐसा नहीं करते तो सेब काटते हुए गलती से उनसे अपने हाथ की एक ऊँगली कट जाती है| ऊँगली कटने की वजह से उनके हाथ से खून बहने लगा और राजा अकबर को बहुत दर्द होने लगा|

दर्द से परेशान होकर राजा अकबर दरबार में चिल्लाने लगे| जैसे की आप जानते है जहाँ पर अकबर होते है,वही पर बीरबल होते है| ठीक इसी तरह उस दिन बीरबल भी वहीं पर उपस्थित थे और यह सारी घटना को देख रहे थे|



वह राजा अकबर के पास आते है और कहते है की महाराज शांत को जाओ कोई परेशानी की बात नहीं है सब कुछ ठीक हो जाएगा| वैसे भी जो होता है,अच्छे के लिए होता है|

बीरबल से यह सब सुनकर राजा अकबर क्रोधित हो जाते है और कहते है की तुम अजीब इंसान हो यहाँ मेरी ऊँगली कटने के कारण में दर्द से परेशान हूँ और तुम कह रहे हो कि में शांत हो जाऊँ| तुम्हे किसी का आदर-सत्कार करना नहीं आता है| गुस्से में राजा अकबर बीरबल को अपनी काल-खोटरी में डाल देते है|

अकबर का यह गुस्सा  देखकर बीरबल कहता है कि वैसे तो में आपका बहुत खास हूँ ,परन्तु आज आप मुझे काल-खोटरी में डाल रहे हो लेकिन फिर भी मैं अपनी बात से हटूँगा नहीं कि जो होता है,अच्छे के लिए होता है| बीरबल को काल-खोटरी में डालने के कुछ दिन बाद अकबर जंगल में शिकार के लिए गए और जब जंगल में पहुंचे तो वह ज्यादा सैनिक लेकर नहीं निकले थे|



इसके कारण एक जानवर का शिकार करते-करते वह जंगल के बीच में पहुँच गए और रास्ता भटक गए| अचानक उन्हें उस जंगल में एक कबीलों वालों ने पकड़ लिया| अकबर ने कहा कि  में एक राजा हूँ,पर कबीलों वालो ने एक ना सुनी और कहने लगे की राजा होंगे तुम अपने राज्य में परन्तु अब तो तुम्हारी बलि चढ़ेगी| कबीलें वालें बलि की तैयारी करने लगे,अब राजा अकबर को लगा कि सब कुछ ख़त्म होने वाला है|

तभी उनमे से एक कबीलें वाले की नज़र राजा अकबर की उस चोटिल ऊँगली पर पड़ी और अब वह कबीलें वाले कहने लगे कि इसकी बलि तो पहले से ही चड़ी हुई है| और वह कबीलें उसको छोड़ देते है| राजा अकबर छूटकर जब जंगल से घर आ रहे थे तो उन्हें बीरबल की वो कही हुई बात याद आ गयी और उन्होंने अब बीरबल की बात को मान लिया था कि जो होता है, अच्छे के लिए होता है|

परन्तु कुछ समय बाद वह सोचने लगा की चलो मेरे साथ तो अच्छा हुआ परन्तु बीरबल के साथ क्या अच्छा हुआ| जब वह अपने महल पहुँचे तो बीरबल के पास काल-खोटरी में गए और राजा अकबर ने बीरबल को जंगल में सब कुछ घटी हुई घटना के बारे में बताया और पूछा कि चलो मेरे साथ तो अच्छा हुआ परन्तु तेरे साथ क्या अच्छा हुआ| मैंने तो तुझे काल-खोटरी में डाल दिया था|



बीरबल के जरा सा मुस्कुराते हुए कहा महाराज जहाँ आप होते वहाँ पर में आपके साथ होता हूँ| जरा सोचिए अगर में आपके साथ  जंगल में जाता तो आपके तरह कबीलें वालों से पकड़ा जाता| तो उन कबीलें वाले ने आपको आपकी कटी ऊँगली की वजह से छोड़ दिया था

परन्तु मेरी तो कोई भी ऊँगली नहीं कटी थी तो फिर आपकी जगह मेरी बलि चढ़ जाती| अब यह आप ही बताइए कि आपने मुझे काल- खोटरी में डाला तो मेरे लिए अच्छा हुआ की नहीं| अब आप ही बताइए कि यह सच है की नहीं|

जो होता है, अच्छा के लिए होता है|

दोस्तों आपकी ज़िन्दगी में भी कई तरह की परेशानियाँ होगी और आप कई तरह की परेशानियों से गुजर रहे होंगे| कई तरह-तरह की परेशानियाँ होंगी| उन परेशानियों घबरायेगा नहीं क्योंकि सबकी ज़िन्दगी में किसी ना किसी तरह की परेशानियाँ होती है| दोस्तों हमे इनसे घबराना नहीं है और सिर्फ यह सोचना है की जो होता है,अच्छे के लिए होता है|



Friends आपको हमारा यह Article कैसा लगा| Please हमे Comment Box के Through Comment करके बताए और अगर बहुत अच्छा लगा तो हमारे इस Article को Share करना ना भूले|

दोस्तों अगर आपके पास भी ऐसी ही कोई मजेदार Story है तो उसे हमे Comment बॉक्स में Comment करके बताइए हम आपके बताए उस Article को आपके लिए जरूर लिखेंगें|

Thank You
Sanjana

यह भी पढ़े –

1.
2.
3.
4.
5.

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *