महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज जी का 90 वर्ष की उम्र में अमेरिका में हुआ निधन|

पद्म भूषण, पद्म विभूषण जैसे पुरुस्कारों से सम्मानित पंडित जसराज जी का निधन अमेरीका के न्यू जर्सी में सोमवार को हो गया| वह 90 वर्ष के थे| इनकी मृत्यु दिल के दौरे पड़ने से हुई| कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन के बाद से 90 वर्षीय पंडित जसराज न्यूजर्सी में ही थे| उन्होंने कल सुबह आखिरी सांस ली|  पिछले साल एक ग्रह का नाम भी उनके नाम पर रखा गया था| आपने 80 साल के संगीत के सफर में इन्हें कई अवार्ड्स से नवाजा भी गया| दोस्तों हमारा आज का आर्टिकल पंडित जसराज जी पर हैं| तो आइए दोस्तों हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ते हैं-

उनका निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ-

पंडित जसराज के परिवार ने एक बयान में कहा कि

‘‘बहुत दुख के साथ हमें सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तंड पंडित जसराज जी का अमेरिका के न्यूजर्सी में अपने आवास पर आज सुबह 5 बजकर 15 मिनट पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया|’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रार्थना करते हैं कि भगवान कृष्ण स्वर्ग के द्वार पर उनका स्वागत करें जहां वह अपना पसंदीदा भजन ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय’ उन्हें समर्पित करें| हम उनकी आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना करते हैं|”

उन्होंने आगे कहा, ‘आपकी प्रार्थनाओं के लिये धन्यवाद| बापूजी जय हो’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया, ‘‘पंडित जसराज जी के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से भारतीय शास्त्रीय विधा में एक बड़ी रिक्तता पैदा हो गयी है| न केवल उनका संगीत अप्रतिम था बल्कि उन्होंने कई अन्य शास्त्रीय गायकों के लिए अनोखे मार्गदर्शक के रूप में एक छाप भी छोड़ी| उनके परिवार और समस्त विश्व में उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना| ओम शांति|’’

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के साथ पंडित जसराज के साथ अपनी कुछ पुरानी तस्वीरें भी ट्विटर पर डालीं जिनमें वह उन्हें सम्मानित कर रहे हैं|

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया-

पंडित जसराज के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दुख जताया| उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘संगीत किंवदंती और अद्वितीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज के निधन ने मुझे दुखी किया है| पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित जसराज ने आठ दशकों से अधिक के करियर को जीवंत करते हुए लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया| उनके परिवार, दोस्तों और संगीत के प्रति संवेदना|

अमित शाह ने भी उनके निधन पर शोक जताया-

गौरतलब है कि 28 जनवरी 1930 को जन्मे पंडित जसराज ने भारतीय शास्त्रीय संगीत को नई ऊंचाई दी| पंडित जसराज ने भारतीय शास्त्रीय संगीत को विश्व फलक पर महत्वपूर्ण स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई| संगीत जगत में अपने जीवन के 80 साल से अधिक समय तक सक्रिय रहे पंडित जसराज ने भारत के साथ ही अमेरिका और कनाडा में भी शास्त्रीय संगीत का परचम लहराया|

ब्रह्मांड में भी जगह बना चुके थे पंडित जसराज-

पिछले साल सितंबर में इंटरनैशनल ऐस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (IAU) ने मंगल और बृहस्पति के बीच में पाए जाने वाले एक ग्रह का नाम ‘पंडितजसराज’ रखा था| यह ग्रह 2006VP32 साल 2006 में खोजा गया था| इसके साथ ही वह पहले ऐसे भारतीय संगीतज्ञ बने जिन्होंने अनंत अंतरिक्ष में अपनी जगह बनाई| पंडिज जसराज जी ने इसे भगवान की कृपा बताया था|

अपने आठ दशकों में इन्हें किन-किन पुरुस्कारों से नवाजा गया-

अपने आठ दशक से अधिक के संगीतमय सफर में पंडित जसराज को पद्म विभूषण (2000), पद्म भूषण (1990) और पद्मश्री (1975) जैसे सम्मान मिले|

दोस्तों, ‘आपको हमारा यह आर्टिकल महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज जी का 90 वर्ष की उम्र में अमेरिका में हुआ निधन| आप हमें कमेंट करके बताए और हमारे इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करना ना भूले|

Thanks For Reading
Sanjana Singh


यह भी पढ़े- Latest News Articles

हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़े –

Facebook     Twitter    Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *